देहरादून, जेएनएन। भारतीय सैन्य अकादमी के बीच से गुजरने वाले चकराता मार्ग (एनएच-72) पर जाम की समस्या अब नहीं होगी। पिछले चार दशक से चली आ रही यह दिक्कत दूर होने जा रही है। रक्षा मंत्रालय ने आइएमए के उत्तरी, दक्षिण और मध्य परिसर को जोड़ने के लिए दो अंडरपास (भूमिगत मार्ग) को हरी झंडी दे दी है। इनके निर्माण के लिए मंत्रालय ने 32.33 करोड़ की धनराशि भी स्वीकृत की है। शनिवार को बतौर निरीक्षण अधिकारी पासिंग आउट परेड में आइएमए पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इसकी घोषणा की। कहा कि वर्ष 1978 से एनएच-72 पर ट्रैफिक जाम की जो समस्या चली आ रही थी उसका समाधान जल्द हो जाएगा। 

इससे न सिर्फ देहरादून बल्कि हिमाचल, हरियाणा, चंडीगढ़, उप्र और पंजाब के लिए आने-जाने वाले लोगों को भी सहूलियत मिलेगी। रक्षा मंत्री ने कहा कि सैन्य अकादमी के तीनों परिसरों को जोड़ने के लिए दो अंडरपास निर्मित किए जाएंगे। इनमें एक अंडर पास अकादमी के उत्तरी और दक्षिण परिसर के बीच चकराता रोड पर बनेगा, जबकि दूसरा अंडरपास दक्षिणी और मध्य परिसर के बीच रांगड़वाला मार्ग पर बनेगा। 

बता दें, अकादमी के बीच से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर अंडरपास बनाने का मामला पिछले लंबे समय से लंबित था। पूर्व में भी कई बार इस दिशा में कदम उठाए गए और डीपीआर भी तैयार की गई थी। लेकिन हर मर्तबा मामला सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय व रक्षा मंत्रालय के बीच लटकता रहा। अंडरपास नहीं बनने से स्थानीय लोगों में भी दिक्कत उठानी पड़ती है। क्योंकि आइएमए में सैन्य प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले कैडेट जितनी दफा एक परिसर से दूसरे परिसर में आवागमन करते हैं उतनी बार यातायात रोक दिया जाता है। 

यह भी पढ़ें: 500 करोड़ की राशि से अत्याधुनिक बनेगा दून का रेलवे स्टेशन Dehradun News

साल में दो बार यानि जून और दिसंबर में होने वाली पासिंग आउट परेड के दौरान तो सप्ताहभर से अधिक समय तक इस मार्ग से गुजरने वाले आमजन की मुसीबतें और बढ़ जाती हैं। क्योंकि रोजाना सुबह व शाम को चकराता मार्ग से गुजरने वाले यातायात को अन्य मार्गों से डाटवर्ट कर दिया जाता है। अंडरपास बनने के बाद अब लोगों को इस समस्या से दो-चार नहीं होना पड़ेगा। 

यह भी पढ़ें: दून रेलवे स्टेशन में होंगी बेहतर जनसुविधाएं, सभी ट्रेनों में होंगे बायोटॉयलेट Dehradun News

सीएम ने जताया रक्षा मंत्री का आभार

प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा आइएमए के उत्तरी, दक्षिण और मध्य परिसर के बीच दो अंडरपास की स्वीकृति दिए जाने पर आभार व्यक्त किया। सीएम ने कहा कि अकादमी के बीच से गुजर रहे राष्ट्रीय राजमार्ग पर जाम की समस्या के कारण पिछले लंबे समय से अंडरपास की आवश्यकता महसूस की जा रही थी। कहा कि केंद्र सरकार से इसके लिए अनुरोध भी किया गया था। इसी क्रम में रक्षा मंत्री द्वारा अकादमी के तीनों परिसरों को जोड़ने के लिए दो अंडरपास और इसके लिए 32.33 करोड़ रुपये की स्वीकृति की है। सीएम ने कहा कि अंडरपास बनने से न केवल देहरादून की जनता को लाभ होगा बल्कि अन्य राज्यों से आने जाने वाले लोगों को भी सुविधा होगी। 

यह भी पढ़ें: हर्रावाला स्टेशन को चमकाने की तैयारी शुरू, यात्री सुविधाओं में होगी बढोतरी

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस