जागरण संवाददाता, ऋषिकेश। उत्तराखंड परिवहन महासंघ की आंदोलन संचालन समिति की बैठक में असहयोग आंदोलन के आगामी स्वरूप और कार्यक्रमों पर चर्चा की गई। इस दौरान फैसला लिया गया कि 15 जून को महासंघ सरकार की बुद्धि-शुद्धि के लिए यज्ञ करेगा।

महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष सुधीर राय की अध्यक्षता में रविवार को आंदोलन संचालन समिति की बैठक यात्रा बस स्टैंड में आयोजित की गई। बैठक में महासंघ द्वारा संचालित असहयोग आंदोलन के भविष्य की रूपरेखा पर विस्तृत चर्चा हुई। सुधीर राय ने कहा कि उत्तराखंड परिवहन महासंघ पिछले 15 दिनों से उत्तराखंड प्रदेश की सरकार के विरुद्ध अपनी विभिन्न मांगों के संबंध में आंदोलनरत है। महासंघ ने नो रिलीफ नो वोट एवं नो टैक्सेशन विदाउट सेल्यूशन की तर्ज पर अपना असहयोग आंदोलन शुरू किया है।

इसके अलावा विभिन्न तरीकों से सरकार में बैठे हुए विभिन्न मंत्रियों और मुख्यमंत्रियों तक हमने अपनी बात पहुंचाने का काम किया, लेकिन सरकार हमारी बातों को अनसुना कर वाहन स्वामियों के हित में कोई भी फैसला नहीं ले रही है। यातायात पर्यटन विकास सहकारी संघ के उपाध्यक्ष नवीन रमोला ने कहा कि सरकार को हठधर्मिता छोड़कर वाहन स्वामियों और परिवहन व्यवसायियों के हित में जल्द कोई निर्णय लेना पड़ेगा। नहीं तो पूरे प्रदेश में बृहद स्तर पर आंदोलन हमारी मजबूरी बन जाएगा।

टीजीएमओसी के उपाध्यक्ष जसपाल राणा ने कहा कि समस्त वाहन स्वामी एकजुट होकर सरकार को जगाने का प्रयास करेंगे। बैइक में निर्णय लिया गया कि 15 जून 2021 को यात्रा बस स्टैंड में समस्त वाहन स्वामी महासंघ के तत्वाधान में सरकार की बुद्धि-शुद्धि के लिए सबह 11 से एक तक यज्ञ किया जाएगा। इस अवसर पर गढ़वाल मंडल बहुद्देशीय के संचालक विनोद भट्ट, जीप कमांडर यूनियन के अध्यक्ष बलवीर नेगी, ऑटो विक्रम महासंघ के अध्यक्ष महंत विनय सारस्वत, गढ़वाल टैक्सी यूनियन के अध्यक्ष विजयपाल सिंह रावत, टीजीएमओसी के संचालक बलवीर सिंह रौतेला, इनोवा टैक्सी यूनियन के अध्यक्ष हेमंत डंग, डीलक्स टैक्सी यूनियन के अध्यक्ष जयप्रकाश ठेकेदार आदि मौजूद रहे।

 यह भी पढ़ें- आंगनबाड़ी कार्यकर्त्‍ताओं ने मांगों को लेकर किया प्रदर्शन, प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को भेजा पत्र

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Raksha Panthri