जागरण संवाददाता, देहरादून: कोविड काल में भी कुछ लोग अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे। पुलिस ने गुरुवार को एक ऐसे गैंग का खुलासा किया जो अस्पताल में भर्ती कोविड पॉजिटिव मरीजों का मोबाइल चोरी कर लेते थे। ऐसे तीन युवकों को गिरफ्तार किया गया है।  सुनील गुप्ता ने चौकी झाझरा पर तहरीर दी थी कि उसकी पत्नी रीमा गुप्ता कोविड पॉजिटिव है और उपचार सुभारती अस्पताल झाझरा से चल रहा है।

आज जब पत्नी को फोन किया तो उसका फोन स्विच ऑफ आ रहा था। जिसके बाद पत्नी से संपर्क किया तो उसके द्वारा बताया कि उसका फोन हास्पिटल से चोरी हो गया है। तहरीर के आधार पर थाना प्रेमनगर पर तत्काल मुकदमा दर्ज किया। इस पर थानाध्यक्ष प्रेम नगर ने टीमें गठित की और कोविड मरीजों के मोबाइल फोन को चोरी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए सुभारती अस्पताल में नियुक्त कर्मचारियों व अधिकारियों से कोविड गाइडलाइन में दिए गए आदेश निर्देशों का पालन करते हुए पूछताछ – छानबीन की गई। जिसके आधार पर अफ़ज़ल पुत्र इख़लाक़ निवासी छरबा उस्मान पुर थाना सहसपुर देहरादून, शुभम पुत्र बिजेंद्र निवासी ढाकी थाना सहसपुर देहरादून, रवि कुमार पुत्र रमेश चन्द्र निवासी सहसपुर देहरादून को सुभारती अस्पताल चकराता रोड के पास से चोरी मोबाइल के साथ गिरफ्तार किया गया।

यह भी पढ़ें- इंस्टाग्राम पर पोस्ट की बच्चों की अश्लील वीडियो, आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज

तीनों अस्पताल में काम करते हैं। पूछताछ पर बताया कि जब मरीज आराम करता है और मौका देखकर उसके फोन को तुरंत छुपा कर अपने पास रख लेते हैं और फोन को तुरंत स्विच ऑफ कर देते हैं। उनके कब्जे से चोरी के चार मोबाइल बरामद किए गए। पुलिस तीनों को न्यायालय के समक्ष पेश करेगी। 

यह भी पढ़ें- रुड़की: अस्पताल पर मारा छापा, बिना अनुमति भर्ती किये हुए थे कोरोना संक्रमित मरीज

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Sumit Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट