ऋषिकेश, जेएनएन। लोक निर्माण विभाग राष्ट्रीय राजमार्ग डोईवाला डिवीजन ने उत्तराखंड उच्च न्यायालय के आदेश पर ऋषिकेश क्षेत्र में अतिक्रमण चिह्नित किया। उत्तराखंड शहीद स्मारक का कुछ हिस्सा अतिक्रमण की जद में आने पर उत्तराखंड शहीद स्मारक समिति ने गलत चिह्निीकरण का आरोप लगाते हुए तहसील में प्रदर्शन किया। 

उत्तराखंड शहीद स्मारक समिति ऋषिकेश के बैनर तले आंदोलनकारी वेद प्रकाश शर्मा के नेतृत्व में कई लोग तहसील पहुंचे। जहां उन्होंने लोनिवि एनएच डोईवाला डिवीजन पर अतिक्रमण के नाम पर गलत चिह्निीकरण का आरोप लगाया। कहा कि वहां 42 शहीद राज्य आंदोलनकारी की स्मृति में एक भव्य स्मारक बनाया गया है। इसे 21 वर्ष हो गए हैं। 

उन्होंने कहा कि यह भूमि उन्हें भरत मंदिर के महंत अशोक प्रपन्नन शर्मा से शहीद स्मारक बनाने के लिए दान में दी थी। इसका शिलान्यास उत्तराखंड राज्य आंदोलन के प्रणेता स्वर्गीय इंद्रमणि बडोनी ने किया था। इसकी अनुमति तत्कालीन उप जिलाधिकारी द्वारा दी गई थी। उन्होंने स्मारक धवस्तीकरण की कार्रवाई रोकने की मांग की। मांग पूरी न होने पर राज्य आंदोलनकारी 23 नवंबर से शहीद स्थल पर सरकार के खिलाफ भजन कीर्तन करेंगे। 

यह भी पढ़ें: राजकीय शिक्षक संघ की प्रांतीय कार्यकारिणी का कार्यकाल बढ़ा, उठे विरोध के स्वर 

ज्ञापन देने वालों में विक्रम सिंह भंडारी, गंभीर सिंह मेवाड़, एडवोकेट राकेश सिंह मियां, युद्धवीर सिंह चौहान, मनीषा वर्मा, रामेश्वरी चौहान, सीमा रावत, देवकी बरौली, बृजेश डोभाल, शकुंतला सिह, गोदावरी खंडूड़ी, अजय गुलाटी, सुरेंद्र उनियाल, गोविंद सिंह रावत, सुशीला पोखरियाल, विजयपं, वेद प्रकाश धींगड़ा आदि शामिल थे।

यह भी पढ़ें: अनशनकारी छात्र की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में कराया गया भर्ती

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस