जागरण संवाददाता, देहरादून। भारतीय क्रिकेट ए टीम के पूर्व मुख्य कोच शितांशु कोटक ने कहा कि उत्तराखंड के खिलाड़ी मजबूत व ऊर्जावान हैं। इन खिलाडिय़ों में देश के लिए खेलने की क्षमता है। अगर इन्हें सही समय पर सही प्रशिक्षण मिला तो ये खिलाड़ी भारत की मुख्य टीम का हिस्सा बन सकते हैं।

शितांशु कोटक विगत 25 जुलाई से देहरादून स्थित तनुष क्रिकेट एकेडमी(टीसीए) में उत्तराखंड के खिलाडिय़ों को प्रशिक्षण दे रहे हैं। यहां सीएयू (क्रिकेट एसोसिएशन आफ उत्तराखंड) ने 10 दिन का विशेष शिविर लगाया है। जिसके लिए कोटक की सेवाएं ली जा रही हैं। कोटक खिलाडिय़ों को खुद को निखारने के लिए टिप्स दे रहे हैं। साथ ही उनकी कमियों और मजबूती से भी रूबरू करवा रहे हैं। खिलाडिय़ों के स्किल डेवलपमेंट पर भी कार्य किया जा रहा है।

रविवार को शितांशु कोटक ने दैनिक जागरण से बातचीत में कहा कि वह उत्तराखंड के खिलाड़ियों के प्रदर्शन से बहुत प्रभावित हुए हैं। बकौल कोटक मुझे लगा ही नहीं कि उत्तराखंड को दो साल पहले ही बीसीसीआइ से क्रिकेट संचालन की मान्यता मिली है। उनका कहना है कि उत्तराखंड के खिलाड़ी शारीरिक व मानसिक रूप से फिट हैं। मुझे पूरी उम्मीद है कि ये खिलाड़ी आगामी घरेलू सत्र में अनुभवी टीमों को कड़ी टक्कर देंगे। बड़ी टीमों के साथ मैच के दौरान किस तरह से दबाव का सामना किया जाता है, इसके लिए भी खिलाड़ियों को टिप्स दिए जा रहे हैं।

महिला खिलाड़ियों को स्वजन का साथ जरूरी

शितांशु कोटक ने कहा कि उत्तराखंड की महिला क्रिकेटर अन्य राज्यों के खिलाड़ियों के मुकाबले कहीं ज्यादा मजबूत हैं। कैंप के दौरान उन्होंने इसे महसूस किया है। उन्होंने कहा कि महिला खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर उनके स्वजन का बड़ा हाथ रहता है। अगर खिलाड़ी को उसके स्वजन सपोर्ट करते हैं तो उसका प्रदर्शन निखरकर सामने आएगा। उन्होंने प्रदेशवासियों से भी अपील की है कि अगर उनकी बेटी क्रिकेट खेलने में रुचि रखती है तो उन्हें सपोर्ट जरूर करें।

खिलाड़ी व प्रशिक्षकों की तैयारी कराई डायरी

शितांशु कोटक ने खिलाड़ियों के साथ उत्तराखंड के प्रशिक्षकों से भी अपना अनुभव साझा किया। कोटक ने बताया कि उन्होंने खिलाड़ियों की मजबूती व कमजोरी को पकड़कर उनकी डायरी में नोट कराया है। ऐसा ही उन्होंने प्रशिक्षकों से भी कराया है। उनका कहना है कि यह डायरी उनके आगे तक काम आएगी।

सीएयू मैनेजमेंट की तारीफ

कोटक ने कहा कि सीएयू मैनेजमेंट क्रिकेट के प्रति अच्छा काम कर रहा है। संघ के पदाधिकारियों से बातचीत में खेल में राजनीति जैसी चीजें सामने नहीं आई। कहा कि मैनेजमेंट और खिलाड़ियों के बीच सही समन्वय बेहद जरूरी है, जो उत्तराखंड की टीम और मैनेजमेंट के बीच दिख रहा है। ये एक अच्छा संकेत है।

यह भी पढ़ें- गोल्डन गर्ल अंकिता ने एक और उपलब्धि की अपने नाम, एक दिन में जीता स्वर्ण और रजत पदक

Edited By: Raksha Panthri