देहरादून, जेएनएन। वरिष्ठ पत्रकार, कवि-साहित्यकार, सेवानिवृत शिक्षक व उत्तरांचल प्रेस क्लब के संस्थापक सदस्यों में शामिल रहे सुरेंद्र पुंडीर का आज सुबह 8 बजे मसूरी में निधन हो गया। वह करीब 64 वर्ष के थे। वह बीते रोज देहरादून से मसूरी गांधीजी पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने गए थे और पूर्णतः स्वस्थ थे। आज सुबह अपने मसूरी के लंढौर स्थित घर में हृदयगति रुक जाने से उनका निधन हो गया।

सुरेंद्र पुंडीर मसूरी और देहरादून के साहित्यिक परिवेश के एक जाना पहचाना नाम थे। मसूरी में साहित्यिक संस्था "अलीक" के संस्थापकों में भी वे रहे हैं और उनकी सक्रियता के चलते 1990 के दशक के आखिर तक मसूरी और आसपास अलीक की मासिक साहित्यिक गोष्ठियां नियमित तौर पर होती रहीं। उनकी कुछ पुस्तकें भी प्रकाशित हुईं। प्रदेश में कहीं ही होने वाले साहित्यिक आयोजनों में उनकी मौजूदगी तकरीबन हमेशा रहती थी। 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के पूर्व राज्यपाल सुदर्शन अग्रवाल का निधन, एक दिवसीय राजकीय शोक घोषित

एक पत्रकार के तौर पर उन्‍होंने 1986 में मसूरी से एक अखबार से संवाददाता के तौर पर जुड़े और लंबे समय तक सक्रिय रहे। 1994 में जब दून (उत्तरांचल) प्रेस क्लब की स्थापना हुई तो वे उसके संस्थापक सदस्यों में शामिल रहे। प्रेस क्लब की शुरुआती कार्यकारिणी में मसूरी से वे कार्यकारिणी सदस्य भी रह चुके हैं। उन्होंने जौनपुर ब्लाक स्थित इंटर कॉलेज घोड़ाखुरी में कर डेढ़ दशक तक अध्यापक के तौर पर भी कार्य किया। अभी 3-4 साल पूर्व ही वे वहां से सेवानिवृत हुए। मसूरी के अलावा वे काफी समय से देहरादून में भी रह रहे थे।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के वित्तमंत्री प्रकाश पंत का निधन, तीन दिन का राजकीय शोक घोषित

 

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस