देहरादून, राज्य ब्यूरो। उत्तराखंड से राज्यसभा सदस्य और भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख अनिल बलूनी की अस्वस्थता को देखते हुए उनकी अनुपस्थिति में भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. संबित पात्रा अपने मित्रों के साथ आठ नवंबर को लोकपर्व इगास मनाने उनके पैतृक गांव नकोट पहुंचेंगे।

राज्यसभा सदस्य बलूनी ने उत्तराखंड की लोक परंपराओं और संस्कृति के संरक्षण की दिशा में पहल की है। इसी कड़ी में 'अपना वोट-अपने गांव' अभियान के तहत उन्होंने पलायन के चलते खाली होते गांवों की ओर वापस लौटने की ओर ध्यान खींचा। बलूनी ने प्रदेश के प्रमुख लोकपर्व इगास बग्वाल को मनाने के लिए प्रवासियों से अपने गांव आने का आह्वान किया। बलूनी ने खुद भी अपने मूल गांव नकोट (कोट विकासखंड, पौड़ी) पहुंचकर इगास बग्वाल मनाने की घोषणा की थी।

इस बीच बलूनी अचानक बीमार हो गए और पिछले एक माह से ज्यादा समय से वह उपचार करा रहे हैं। अस्वस्थता के कारण बलूनी के इगास मनाने गांव न पहुंच पाने के मद्देनजर उनके मित्र एवं भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ.संबित पात्रा ने अपने कुछ मित्रों के साथ नकोट पहुंचने का एलान किया है।

यह भी पढ़ें: जनरल वीके सिंह बोले, सीमांत इलाकों में मजबूत होगा बुनियादी ढांचा

डॉ.पात्रा ने सोमवार को सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर जानकारी दी कि वह आठ नवंबर को बलूनी के पैतृक गांव में इगास मनाएंगे। उन्होंने कहा कि वह भी उत्तराखंड के अन्य प्रवासियों की तरह इगास मनाने पहुंचेंगे और पलायन के कारण विलुप्त होती लोक परंपराओं और संस्कृति के संरक्षण के इस अभियान में भागीदार बनेंगे। साथ ही राज्यसभा सदस्य बलूनी के इस अभियान से जुडऩे के लिए युवाओं से भी अपील करेंगे।

यह भी पढ़ें: जनरल बिपिन रावत बोले, पाकिस्तान की हर हरकत का दिया जा रहा माकूल जवाब

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप