देहरादून, जेएनएन। 20वें राज्य स्थापना दिवस के मौके पर छह दिनी कार्यक्रम शुरू हो गया। इसमें देश की नामचीन हस्तियां शिरकत कर रही हैं। कार्यक्रम में सेना प्रमुख बिपिन रावत, सीएम योगी और त्रिवेंद्र रावत ने 30 शहीदों के स्‍वजनों को सम्मानित किया। इस दौरान थल सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने कहा कि सेना सरहदों के साथ ही आंतरिक सुरक्षा के लिए पूरी तरह से मुस्तैद है। उन्होंने कहा कि देश पूरी तरह से सुरक्षित है और पाकिस्तान को उसकी हर हरकत का माकूल जवाब दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि देश पूरी तरह से सुरक्षित है और पाकिस्तान को उसकी हर हरकत का माकूल जवाब दिया जा रहा है। वहीं, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ बोले, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में भाजपा सरकार होने से दोनों राज्यों के बीच लंबित कई मसले हल हो चुके हैं और कई हल होने के करीब पहुंच चुके हैं। 

रविवार को राज्य स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित एक समारोह में शिरकत करने टिहरी पहुंचे जनरल रावत मीडिया से बातचीत कर रहे थे। जनरल रावत ने कहा कि सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण उत्तराखंड में सरकार द्रुत गति से सड़क, हवाई और रेल कनेक्टिविटी का विकास कर रही है। सीमा तक सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। कहा कि यदि राज्य सरकार इसमें मदद मांगेगी तो सेना तैयार है। कहा कि कनेक्टिविटी सेना की ताकत है। उत्तराखंड को धरती का स्वर्ग बताते हुए थल सेनाध्यक्ष ने कहा कि यह सैन्य बहुल प्रदेश है और इस भूमि ने सेना को एक से बढ़कर एक योद्धा दिए हैं। कहा कि गढ़वाल और कुमाऊं राइफल के अलावा सेना की अन्य विंगों में भी यहां के युवा आ रहे हैं। उन्होंने युवाओं को सेना में आने के लिए प्रेरित भी किया। इससे पहले उन्होंने शहीदों के स्वजनों से मुलाकात भी की।

दोनों राज्यों के बीच हल हो रहे लंबित मसले 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में भाजपा सरकार होने से दोनों राज्यों के बीच लंबित कई मसले हल हो चुके हैं और कई हल होने के करीब पहुंच चुके हैं। उन्होंने प्रवासी उत्तराखंडियों का आवाह्न किया कि वे अपने राज्य में लौटें और यहां के विकास में योगदान करें।

रविवार को टिहरी में राज्य स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा यह प्रदेश धरती का स्वर्ग है। उत्तराखंड के जो लोग देश विदेश में सफलता की कहानी रच रहे हैं, उन्हें प्रदेश के विकास में अपनी भूमिका सुनिश्चित करनी होगी। टिहरी से जुड़े संस्मरणों को साझा करते हुए कहा कि दसवीं तक की पढ़ाई उन्होंने टिहरी में ही की और आज 33 साल बाद वह यहां आए हैं। योगी ने कहा कि पुरानी टिहरी को उन्होंने देखा था, लेकिन नई टिहरी में वह विकास के नए आयाम देख रहे हैं। 

उत्तराखंड सरकार की पीठ थपथपाते हुए उन्होंने कहा कि यहां हाइड्रो प्रोजेक्ट, सोलर प्रोजेक्ट, हर्बल उद्योग और बागवानी की अपार संभावनाएं हैं। उत्तराखंड सरकार बेहतर कार्य कर रही है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ङ्क्षसह रावत ने कहा कि राज्य में औद्योगिक वातावरण को बेहतर किया गया है। उन्होंने उद्यमियों का आह्वान किया कि प्रदेश में निवेश के लिए अनुकूल माहौल है। वे आगे आएं। इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, त्रिवेंद्र सिंह रावत और जनरल बिपिन रावत ने 30 शहीदों के स्वजनों को सम्मानित किया। कार्यक्रम में पूर्व डीजीएमओ अनिल भट्ट भी उपस्थित थे। 

वहीं सोमवार को देहरादून में आयोजित सैनिक सम्मेलन में केंद्रीय राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह, केंद्रीय राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह, स्ट्रेटेजिक वार कमांडर केंद्र सरकार लेफ्टिनेंट जनरल जेएस नेगी, पूर्व वाइस आर्मी चीफ लेफ्टिनेंट जनरल एएस लांबा, पूर्व रॉ चीफ आलोक जोशी, सेवानिवृत्त मेजर जीडी बख्शी और कवि कुमार विश्वास भाग लेंगे।

यह भी पढ़ें: दून में बनाई जाएगी 50 किमी लंबी मानव श्रृंखला, जुटेंगे एक लाख लोग Dehradun News

छह नवंबर को श्रीनगर में गढ़वाल विश्वविद्यालय परिसर में महिला सम्मेलन में राष्ट्रीय महिला आयोग अध्यक्ष, फिल्म राइटर अद्वैता काला व अभिनेत्री हिमानी शिवपुरी, सात नवंबर को अल्मोड़ा में युवा सम्मेलन में पूर्व केंद्रीय मंत्री किरन रिजिजू, चित्राशी रावत समेत अन्य खेल हस्तियां शामिल हो रही हैं। इसी तरह आठ नवंबर को मसूरी में फिल्म कॉन्क्लेव में फिल्म निर्देशक सुभाष घई, जैकी भगनानी, तिग्मांशु धूलिया व अनूप जलोटा और नौ नवंबर को देहरादून में भारत भारती उत्सव में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शिरकत करेंगे। इस दिन उत्तराखंड के वाद्य यंत्रों की झांकी भी निकाली जाएगी।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी बोले, मुस्लिम समाज भी चाहता है अयोध्या में बने भव्य राम मंदिर

Posted By: Sunil Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप