जागरण संवाददाता, देहरादून: Dehradun Crime लंबे समय से देहरादून में चोरी की घटनाओं को अंजाम दे रहे उत्तर प्रदेश के गिरोह के दो सदस्यों को राजपुर थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित रिश्ते में जीजा-साला हैैं। उनके दो साथी फरार हैैं, जिनकी तलाश चल रही है। आरोपितों ने दून के राजपुर, डालनवाला व क्लेमेनटाउन में पांच जगह चोरी करना स्वीकार किया है। इसमें एक पुलिस अधीक्षक, आर्मी के रिटायर्ड कर्नल और डीआइटी यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर का घर भी शामिल है।

एसपी सिटी सरिता डोबाल ने बताया कि इसी पांच अक्टूबर को जाखन के शिवम विहार में रहने वाले डा. नितिन पांडेय ने चोरी की तहरीर दी थी। चोरों ने उनके क्लीनिक से ताला तोड़कर नकदी व अन्य सामान पार कर दिया था। इसके बाद 11 अक्टूबर को जाखन में ही इंजीनियर एन्क्लेव में डीआइटी यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर डा. प्रवेश कुमार के घर का ताला तोड़कर नकदी, गहने व टीवी चोरी कर लिया गया। इस मामले की जांच कर रहे राजपुर थानाध्यक्ष मोहन सिंह और जाखन चौकी इंचार्ज नवीन जोशी ने दोनों घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगाला। इससे मिले साक्ष्यों के आधार पर गुरुवार को दो आरोपितों नासिर निवासी शाहपुर बेहट, सहारनपुर (उत्तर प्रदेश) और निसार निवासी आजाद कालोनी माजरा, पटेलनगर (देहरादून) को सहस्रधारा हेलीपैड के पास दबोच लिया गया। दोनों एक कार में सवार थे।

गिरोह के सरगना नासिर ने बताया कि निसार उसका साला है। दोनों स्मैक के आदी हैैं। वह अहसान और फुरकान निवासी शाहपुर बेहट सहारनपुर (उत्तर प्रदेश) के साथ चोरियों को अंजाम देते थे। अहसान देहरादून में बंद घरों की रेकी करता था। इसके बाद रात में गिरोह चोरी को अंजाम देता था। अहसान की बेहट में ज्वेलरी शाप है। चोरी का सामान अहसान ही ठिकाने लगाता था।

यह भी पढ़ें- Dehradun Crime News: पुलिस ने लंदन में रह रहे आठ साल से फरार वांछित को दबोचा

नासिर के खिलाफ 28 मुकदमे

नासिर के खिलाफ उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में विभिन्न मामलों में 28 मुकदमे दर्ज हैैं। उत्तराखंड में उसके खिलाफ दून के राजपुर थाना व डालनवाला कोतवाली में दो-दो, विकासनगर कोतवाली में दस, क्लेमेनटाउन थाना में छह, पटेलनगर कोतवाली व सहसपुर थाना में एक-एक मुकदमा दर्ज है। जबकि, उत्तर प्रदेश के फतेहपुर में एक और बेहट में पांच मुकदमे दर्ज हैैं। इसके अलावा उसके खिलाफ विकासनगर, क्लेमेनटाउन व बेहट में गैैंगस्टर और बेहट में गुंडा एक्ट के तहत कार्रवाई हुई है। वहीं, निसार के खिलाफ राजपुर, डालनवाला और क्लेमेनटाउन में पांच मुकदमे दर्ज हैं।

यह सामान हुआ बरामद

55 हजार रुपये, एक टीवी, सोने-चांदी के जेवरात, 300 अमेरिकन डालर, ताला तोडऩे के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला पेचकस व एक कार।

यह भी पढ़ें- एनआरआइ ने जमीन दिलाने के नाम पर 30 लाख ठगे, हांगकांग में रहता है मुख्य आरोपित

Edited By: Sumit Kumar