जागरण संवाददाता, देहरादून : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की दून के परेड ग्राउंड में चार दिसंबर को प्रस्तावित रैली के दिन ही उत्तराखंड में समूह ग के रिक्त पदों के लिए बड़ी लिखित परीक्षा शुरू होगी। रैली में आने वाली भीड़ अभ्यर्थियों की राह में रोड़ा बन सकती है। ऐसे में अभ्यर्थी परीक्षा के निर्धारित समय से कुछ समय पहले ही परीक्षा केंद्रों तक पहुंच जाएं तो अच्छा रहेगा। यह परीक्षा पिछले साल कोरोना संक्रमण की पहली व दूसरी लहर के कारण करीब एक साल टल रही है।

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की ओर से चार दिसंबर यानि शनिवार को यह परीक्षा तीन से पांच बजे के बीच आयोजित की जाएगी। जबकि पांच दिसंबर यानी रविवार को परीक्षा सुबह दस से 12 बजे और दोपहर दो से चार बजे के बीच होगी। उधर, प्रधानमंत्री मोदी की दून के परेड ग्राउंड में शनिवार को दोपहर 12 बजे के करीब रैली प्रस्तावित है। रैली में एक लाख से अधिक व्यक्तियों की भीड़ जुटने का भाजपा दावा भी कर रही है। ऐसे में परेड ग्राउंड के आसपास के शिक्षण संस्थान में जहां परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं, वहां तक अभ्यर्थियों को पहुंचने के लिए खासी परेशानी झेलनी पड़ सकती है। हालांकि प्रधानमंत्री की रैली व परीक्षा के बीच तीन घंटे का फासला है, लेकिन रैली को लेकर सरकारी महकमे, सुरक्षा बंदोबस्त और रैली में उमडऩे वाली भीड़ के कारण परीक्षार्थियों को समय पूर्व अपने परीक्षा केंद्रों पर पहुंचना होगा। हालांकि इस बारे में सोमवार देर शाम तक जिला प्रशासन को कोई अलग से निर्णय नहीं लिया है।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड में चिकित्सकों के 379 पदों पर जल्द होगी भर्ती, 120 पद हैं आइसीयू डाक्टरों के

 

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के सचिव संतोष बडोनी का कहना है कि उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की ओर से चार एवं पांच दिसंबर को प्रस्तावित समूह ग की परीक्षा अपने समय पर होगी। 854 पद के लिए दो लाख 19 हजार अभ्यर्थी ने आवेदन किया है। प्रदेशभर में 190 परीक्षा केंद्र में तीन पाली व दो दिन परीक्षा होगी। प्रशासन की ओर से प्रधानमंत्री की दून में रैली से संबंधित कोई पत्र या अन्य जानकारी नहीं मिली है।

यह भी पढ़ें- Devasthanam Board: सीएम पुष्कर धामी ने देवस्थानम बोर्ड को किया भंग, जानिए अब क्या होगा अगला कदम

Edited By: Sumit Kumar