देहरादून, [जेएनएन]: शहीद संदीप सिंह रावत मेमोरियल बॉक्सिंग प्रतियोगिता के पुरुष वर्ग में महाराणा प्रताप स्पोर्टस कॉलेज के मुक्केबाजों ने दबदबा बनाते हुए पांच खिताब अपने नाम किए। महिला वर्ग में परेड ग्राउंड ओवरऑल विजेता बना।

परेड ग्राउंड में चल रही प्रतियोगिता में सभी वर्गों के फाइनल मुकाबले हुए। पुरुष 49 किग्रा वर्ग में स्पोर्टस कॉलेज के सुशील पुन ने गढ़वाल रायफल्स रेजीमेंट (जीआरआर) के मोहित भंडारी, 52 किग्रा वर्ग में जीआरआर के गुरुजयंत ने स्पोर्टस कॉलेज के संदीप कैड़ा, 56 किग्रा वर्ग में स्पोर्टस कॉलेज के पवन बर्तवाल ने जीआरआर के परविंदर को पराजित किया।

यह भी पढ़ें: बॉक्सिंग में अरुण और अरस्तू 60 किग्रा वर्ग के खिताबी दौर में

60 किग्रा वर्ग में अरुण चौहान ने जीआरआर के भरत बड़वाल और 64 किग्रा वर्ग में ललित रावत ने जगदीश कुमार को अंकों के आधार पर हराकर खिताब जीता। इसके अलावा 69 किग्रा वर्ग में स्पोर्टस कॉलेज के हिमांशु सोलंकी ने एसजीआरआर के कर्मा और 75 किग्रा वर्ग में जीआरआर के संदीप रावत ने ऋषभ को हराकर खिताब कब्जाया।

यह भी पढ़ें: परविंदर, मनीष, किशन और पवन बॉक्सिंग के सेमीफाइनल में

महिला 45 किग्रा वर्ग में गौतम बॉक्सिंग क्लब की मानसी ने एपीएस की शिवानी शर्मा, 48 किग्रा वर्ग में परेड ग्राउंड की करिश्मा ने छिद्दरवाला की मुस्कान चौहान, 51 किग्रा में कनिष्का ने डीएवी की दीपांजलि, 54 किग्रा वर्ग में अमित सेलियाल ने एपीएस की सिमरन को हराया। 60 किग्रा वर्ग में पायल शर्मा ने गौतम बॉक्सिंग क्लब की आयुषी को अंकों के आधार पर हराकर खिताब अपने नाम किया।

यह भी पढ़ें: अतीस क्रिकेट एकेडमी और पीसीए ने जीते क्रिकेट मैच

समापन पर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री हरीश रावत ने पुरस्कार वितरित किए। उन्होंने शहीद संदीप सिंह रावत के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

यह भी पढ़ें: देहरा कंबाइंड एकेडमी की हिमालयन एकेडमी पर रोमांचक जीत

इस दौरान अर्जुन अवार्डी मुक्केबाज कैप्टन पदम बहादुर मल्ल, शहीद संदीप रावत के पिता हरेंद्र रावत, मां आशा देवी, भाजपा नेता दिनेश रावत, शहीद संदीप सिंह रावत मेमोरियल समिति के संरक्षक एसपी सिंह, अध्यक्ष विजय चंद, कर्नल केएस मल्ल, एसके अग्निहोत्री, सहायक निदेशक खेल एसके सार्की, ललित कुंवर, जितेंद्र सिंह, नरेश गुरुंग, अनिल कंडवाल आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़ें: सृष्टि के अर्द्धशतक की बदौलत आर्यन क्रिकेट एकेडमी सेमीफाइनल में पहुंचा

यादों में जिंदा रहेंगे संदीप

देश की रक्षा करते बलिदान देने वाले संदीप के माता-पिता को उसके जाने का दुख तो है, मगर गर्व ज्यादा है कि देश की रक्षा में वह काम आया। मंगलवार को संदीप का जन्मदिन था। उनकी याद में आयोजित हुई बॉक्सिंग प्रतियोगिता के जरिये उन्हें यादों में जिंदा रखने के लिए संदीप के दोस्तों ने नई शुरूआत की।

उनके पिता ने कहा कि आज संदीप 22 वर्ष का हो जाता। रुंधे गले से उन्होंने इतना ही कहा कि भले ही संदीप हमारे बीच नहीं है, लेकिन वह हमेशा हमारी यादों में जिंदा रहेगा।

यह भी पढ़ें: कम बर्फबारी के चलते औली में नेशनल स्कीईंग चैंपियनशिप स्थगित

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप