देहरादून, जेएनएन। केदारनाथ यात्रा पर आए कर्नाटक के एक यात्री की केदारनाथ पैदल मार्ग पर लिनचोली में हृदयगति रुकने से मौत हो गई। इसके साथ ही केदारनाथ समेत केदारनाथ यात्रा पड़ावों पर हृदयगति रुकने से मरने वालों की संख्या 39 हो गई है।  वहीं, चमोली में बोल्डर गिरने से एक मजदूर की मौत हुई है। 

जानकारी के अनुसार केदारनाथ यात्रा पर आए भरतनगर, मंडी पश्चिम बेंगलुरु (कर्नाटक) निवासी सोम शेखर (52) की लिनचोली में शुक्रवार देर रात अचानक तबीयत बिगड़ गई। परिजनों ने सोम शेखर को तत्काल के स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया, जहां चिकित्सक ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

विदित हो कि हेमकुंड साहिब समेत चारों धाम में हृदयगति रुकने से अब तक 62 यात्रियों की मौत हो चुकी है। सर्वाधिक 39 यात्रियों की मौत केदारनाथ में हुई। जबकि बदरीनाथ में चार, गंगोत्री में पांच, यमुनोत्री में 12 और हेमकुंड साहिब में दो यात्रियों ने हृदयगति रुकने से दम तोड़ा। 

बोल्डर की चपेट में आने से बीआरओ  की मजदूर की मौत 

वहीं, चमोली जिले के जोशीमठ मलारी राष्ट्रीय राजमार्ग पर जुम्मा के पास सड़क पर मलबा हटाने के कार्य के दौरान बीआरओ मजदूर बोल्डर की चपेट में आ गया, जिससे उसकी मौत हो गई। बताया गया कि शनिवार को दोपहर में जुम्मा में बीआरओ के मजदूर सड़क से मलबा हटा रहे थे। इसी दौरान पहाड़ी से बोल्डर गिरने लगे। मजदूरों ने भाग कर जान बचाई लेकिन, इस दौरान महेश भट्ट पुत्र राम सिंह भट्ट(26 वर्ष) बोल्डर की चपेट में आकर घायल हो गया। बीआरओ के कर्मचारियों ने तत्काल घायल मजदूर को उपचार के लिए जोशीमठ सेना के चिकित्सायल पहुंचाया, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। 

यह भी पढ़ें: डंपर ने छात्रा को कुचला, आक्रोशित लोगों ने किया बवाल और चक्का जाम Dehradun News

यह भी पढ़ें: डंपर की चपेट में आने से बाइक सवार दो लोगों की मौत

यह भी पढ़ें: मार्निग वॉक पर निकले युवक को डंपर ने कुचला Dehradun News

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस