देहरादून, जेएनएन। शहर में संडे बाजार की जगह को लेकर पिछले कई हफ्तों से चल रही गफलत खत्म हो गई है। नगर निगम ने संडे बाजार को परेड ग्राउंड से सहस्रधारा रोड पर शिफ्ट किया था, मगर व्यापारियों का आरोप है कि वहां खरीददार नहीं आ रहे। उनकी इस समस्या पर दरबार साहब ने संज्ञान लिया और मेला स्थल की जगह संडे बाजार के लिए दे दी। रविवार से यहां बाजार लगना शुरू हो गया है। 

महापौर सुनील उनियाल गामा ने रविवार को संडे बाजार की नई जगह का शुभारंभ किया। उन्होंने बताया कि जगह का किराया दरबार साहब प्रशासन वसूलेगा जबकि नगर निगम सिर्फ सफाई का शुल्क लेगा। मालूम हो कि वर्ष 2010 तक पलटन बाजार में ही संडे बाजार लगता था मगर जिला प्रशासन ने बाद में इसे लैंसडोन चौक के आसपास शिफ्ट कर दिया। वहां यातायात की दिक्कत आई तो बाजार थोड़ा पीछे परेड ग्राउंड की तरफ सरका दिया गया लेकिन यातायात के जाम की समस्या तब भी बरकरार रही। 

इस दौरान बाजार में अवैध फड़ भी बढ़ती रहीं और निगम पर अवैध फड़ वालों को खुला संरक्षण देने के आरोप लगे। कई बार पुलिस प्रशासन ने बाजार हटाया भी मगर सियासी प्रतिनिधि फड़ वालों के बचाव में आ गए। इनमें कांग्रेस और भाजपा के विधायक तक शामिल रहे। 

सरकार ने नगर निगम को इस समस्या का निदान करने और संडे बाजार के लिए दूसरा स्थान तलाशने के निर्देश दिए। नगर निगम ने सर्वे कर कुछ जगह तलाशी और बाद में बाजार को सहस्रधारा रोड पर आइटी पार्क के पास शिफ्ट कर दिया गया। पिछले पांच हफ्ते से बाजार वहीं लगाया जा रहा था पर व्यापारियों ने इसका विरोध शुरू कर दिया। उनका आरोप था कि शहर से दूर होने की वजह से वहां ग्राहक नहीं आ रहे और उन्हें भारी नुकसान हो रहा। 

वे महापौर से बाजार के लिए नई जगह की मांग कर रहे थे। इस पर महापौर ने दरबार साहब प्रशासन से भी बात की। महापौर गामा ने बताया कि झंडा मेला स्थल पर संडे बाजार लगाने के लिए दरबार साहब ने मंजूरी दी है। 

यह भी पढ़ें: अधर में लटकी मसूरी मल्टीलेवल पार्किंग, रिपोर्ट तलब करेंगे सचिव

यह भी पढ़ें: 2015 से अधर में मसूरी की मल्टीलेवल पार्किंग, पढ़िए पूरी खबर

यह भी पढ़ें: बल्लीवाला फ्लाईओवर: कितनी और मौतों का इंतजार है सरकार

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप