देहरादून, [जेएनएन]: भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआइ) के प्रदेश अध्यक्ष के खिलाफ संगठन की छात्राओं ने मोर्चा खोल दिया है। प्रदेश उपाध्यक्ष पद से हटाई गईं स्वाति नेगी सहित एमकेपी छात्रसंघ की छह पदाधिकारी व दो अन्य ने एनएसयूआइ की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है।

एनएसयूआइ के प्रदेश अध्यक्ष मोहन भंडारी की कार्यशैली पर सवाल खड़े कर छात्राओं ने एमकेपी कॉलेज में प्रेस वार्ता की। इस दौरान स्वाति नेगी ने आरोप लगाए कि निजी स्वार्थों की पूर्ति के लिए प्रदेश अध्यक्ष संगठन के कार्यकर्ताओं का मनोबल गिरा रहे हैं। उनका निष्कासन एक सोची-समझी साजिश के तहत किया गया। जिससे न केवल छात्र संगठन कमजोर होगा, बल्कि इससे छात्राओं के आत्मसम्मान को भी ठेस पहुंची है। 

उन्होंने एनएसयूआइ के राष्ट्रीय अध्यक्ष फिरोज खान को त्यागपत्र भेज बताया कि एमकेपी कॉलेज छात्रसंघ चुनाव के दौरान उन्होंने कड़ी मेहनत की थी, जिसके कारण सभी सीटें एनएसयूआइ जीती। कहा कि उन्हें ऐसे समय एनएसयूआइ उपाध्यक्ष पद से हटाया गया, जब वह संगठन की मजबूती के लिए दिनरात संघर्ष कर रही थीं। कहा कि ऐसे माहौल में वह संगठन में कार्य नहीं कर सकतीं। जिसके कारण वह एनएसयूआइ की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे रही हैं।

इन छह पदाधिकारियों ने भी दिया त्यागपत्र

एमकेपी पीजी कॉलेज छात्रसंघ से छह पदाधिकारियों ने भी स्वाति नेगी के समर्थन में एनएसयूआइ से इस्तीफा दे दिया है। जिसमें छात्रसंघ महासचिव सरिता रावत, उपाध्यक्ष नीलम, कोषाध्यक्ष अनुश्री पोखरियाल, छात्रसंघ विवि प्रतिनिधि सुखविंदर कौर, कार्यकारिणी सदस्य चेतना नेगी, पायल चौहान के अलावा हिना परवीन और नसरीन जोहा अंसारी शामिल हैं। बता दें कि एमकेपी कॉलेज छात्रसंघ की अध्यक्ष दीपाली ठाकुर ने बीती फरवरी माह में एनएसयूआइ छोड़ एबीवीपी ज्वाइन कर ली है।

हजारों छात्राएं एनएसयूआइ के साथ 

एनएसयूआइ के प्रदेश अध्यक्ष मोहन भंडारी के मुताबिक प्रदेश में एनएसयूआइ की मजबूती के लिए काम किया जा रहा है। उपाध्यक्ष पद से दो लोगों को हटाया गया, जिनमें स्वाति नेगी भी शामिल हैं। प्रदेश एनएसयूआइ ने इसकी जानकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष को भी भेजी है। मुझ पर लगाए जा रहे सभी आरोप निराधार हैं। आज भी हजारों छात्राएं एनएसयूआइ के साथ हैं। 

यह भी पढ़ें: कांग्रेस में महिलाओं मांगा ने पीसीसी में अधिक मौका

यह भी पढ़ें: थराली में संजीवनी का काम करेगी कर्नाटक में भाजपा की जीत

यह भी पढ़ें: बोले हरीश रावत, एंटी इनकमबेंसी को मात नहीं दे पाई कांग्रेस

By Bhanu