राज्य ब्यूरो, देहरादून। Governor of Uttarakhand  लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) गुरमीत सिंह बुधवार को उत्तराखंड के आठवें राज्यपाल बन गए। राजभवन में राज्य के मुख्य न्यायाधीश राघवेंद्र सिंह चौहान ने नए राज्यपाल को पद की शपथ दिलाई। समारोह के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नए राज्यपाल से शिष्टाचार भेंट भी की। 

राजभवन में बुधवार सुबह करीब 10.55 बजे शपथ ग्रहण समारोह शुरू हुआ। समारोह का संचालन कर रहे मुख्य सचिव डा एसएस संधु ने राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द की ओर से नए राज्यपाल की नियुक्ति को जारी राजपत्र पढ़कर सुनाया। राज्यपाल गुरमीत सिंह ने हिंदी में शपथ ग्रहण की। शपथ ग्रहण के बाद राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) गुरमीत सिंह को सेना की चार-मराठा बटालियन की टुकड़ी ने सलामी दी। राज्यपाल ने सलामी गारद का निरीक्षण भी किया।

समारोह में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, कैबिनेट मंत्रियों में सतपाल महाराज, सुबोध उनियाल, गणेश जोशी, अरविंद पांडेय व डा धन सिंह रावत, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, आला नौकरशाह, राज्यपाल के स्वजन, मित्रगण, सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारी व गणमान्य लोग मौजूद रहे।

उत्तराखंड में अब तक तैनात रहे राज्यपाल

-सुरजीत सिंह बरनाला: 09 नवंबर, 2000-07 जनवरी, 2003

-सुदर्शन अग्रवाल: 08 जनवरी, 2003-28 अक्टूबर, 2007

-बनवारी लाल जोशी: 29 अक्टूबर 2007-05 अगस्त, 2009

-मार्गरेट अल्वा: 06 अगस्त, 2009-14 मई 2012

-अजीज कुरैशी: 15 मई, 2012-08 जनवरी, 2015

-केके पाल: 08 जनवरी, 2015-25 अगस्त, 2018

-बेबी रानी मौर्य: 26 अगस्त, 2018-13 सितंबर, 2021

यह भी पढ़ें:- जानें कौन हैं लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह जो बने उत्‍तराखंड के नए राज्‍यपाल, जानें क्‍या हैं उनकी नियुक्ति के सियासी मायने

संक्षिप्त जीवन परिचय

  • लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह सेना से 2016 में सेवानिवृत्त हुए। उन्‍होंने सेना में करीब 40 वर्ष की सेवा दी। इस दौरान उन्होंने चार राष्ट्रपति पुरस्कार और दो चीफ आफ आर्मी स्टाफ कमंडेशन अवार्ड प्राप्त किए।
  • लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह सेना डिप्टी चीफ आफ आर्मी स्टाफ रहे
  • लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह सेना एडजुटेंट जनरल और 15 कार्प्‍स के कमांडर रहे
  • वह चीन मामलों से जुड़े मिलिट्री आपरेशन के निदेशक
  • उन्‍होंने नेशनल डिफेंस कालेज और डिफेंस सर्विसेज स्टाफ से स्नातक किया।
  • उन्‍होंने चेन्नई और इंदौर विश्वविद्यालयों से दो एम फिल डिग्री ली।
  • चेन्नई विश्वविद्यालय से वह कर रहे हैं 'स्मार्ट पावर फार नेशनल सिक्योरिटी डायनेमिक्स' विषय पर पीएचडी।
  • उन्‍होंने सैनिक स्कूल कपूरथला (पंजाब) से स्कूलिंग की।

यह भी पढ़ें:- लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह बोले, वीरभूमि की उम्मीदों पर खरा उतरने की होगी कोशिश 

Edited By: Sunil Negi