देहरादून, [जेएनएन]: उत्तराखंड के एक और जवान ने देश की हिफाजत के लिए अपनी शहादत दी है। बीती 10 अप्रैल को कश्मीर में आतंकी मुठभेड़ में घायल हर्रावाला निवासी नायक दीपक नैनवाल जिंदगी की जंग हार गए। उन्होंने रविवार सुबह पुणे स्थित सैन्य अस्पताल में अंतिम सांस ली। उनका पार्थिव शरीर सोमवार तक दून पहुंचेगा। 

जनपद चमोली के कर्णप्रयाग ब्लॉक के कांचुला गांव निवासी दीपक नैनवाल का परिवार दून के हर्रावाला में रहता है। पिछले माह 10 अप्रैल को दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में सेना और आतंकवादियों के बीच चली लंबी मुठभेड़ के दौरान दीपक बुरी तरह घायल हो गए थे। दीपक का इलाज पहले दिल्ली के सैन्य अस्पताल में किया गया। जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे दीपक के शरीर से दो गोलियां बमुश्किल ऑपरेशन कर निकाली गईं, लेकिन तीसरी गोली हड्डी में फंसने के कारण ऑपरेशन नहीं हो पाया, जिससे दीपक की हालत बिगड़ती गई।

उनके शरीर के निचले हिस्से ने काम करना बंद कर दिया था। बाद में उन्हें पुणे के सैन्य अस्पताल ले जाया गया। पिछले एक सप्ताह से उन्होंने कुछ खाना-पीना भी बंद कर दिया था। रविवार सुबह हृदय गति रुक जाने से उनका निधन हो गया। वह अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ गए हैं। 

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने नायक दीपक नैनवाल की शहादत को सलाम करते हुए उनके सर्वोच्च बलिदान को प्रदेश व देश का गौरव बताया है। उन्होंने कहा कि शहीद के परिजनों को हर संभव मदद दी जाएगी। 

यह भी पढेें: आतंकियों से मुठभेड़ में दून के नायक दीपक नैनवाल घायल

यह भी पढ़ें: आइटीबीपी की मुख्यधारा में शामिल हुए 13 उप निरीक्षक

यह भी पढ़ें: हिमवीरों के इन करतबों से युवाओं में देशभक्ति का जज्बा

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस