जागरण संवाददाता, ऋषिकेश। भारतीय सेना के पहले सीडीएस शहीद बिपिन रावत की स्मृति में नगर निगम की ओर से बनवाये जा रहे स्मृति द्वार का नगर निगम महापौर अनीता ममगाईं ने भूमि पूजन कर शिलान्यास किया। इस दौरान बिपिन रावत अमर रहे का नारा कार्यक्रम स्थल गूंजता रहा।

मौसम के खलल के बावजूद शनिवार को अपने पूर्व घोषित कार्यक्रम अनुसार आइडीपीएल गेट हनुमान मंदिर के निकट महापौर ने सीडीएस बिपिन रावत की याद में बनने वाले स्मृति द्वार का वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच भूमि पूजन किया। महापौर ने कहा कि सीडीएस रावत भले ही आज हमारे बीच नही हैं, पर वे भारत के हर नागरिक के दिलों में हमेशा जीवित रहेंगे। राष्ट्र के प्रति उनके योगदान को देश के लोग कभी भुला नहीं पाएंगे। उनकी यादें हमेशा राष्ट्र एवं देश के वीर सैनिकों का मार्गदर्शन करते रहेंगी।

महापौर ने कहा कि चीन और पाकिस्‍तान जैसे नापाक इरादे वाले पड़ोसियों से देश की सुरक्षा के लिए बड़ी चुनौती के बीच भारत के पहले चीफ आफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत एक भरोसे का नाम रहे हैं। कम समय में ही उन्‍होंने भारत की सैन्‍य तैयारियों को दुश्‍मनों से मुकाबले के लिए नई बुलंदियों पर पहुंचाया।

उन्होंने बताया कि उनकी याद में बनने वाला स्मृति द्वार पूरी भव्यता के साथ बनाया जायेगा, जिसमें उनकी शख्सियत की झलकियों को उनके चित्रों के माध्यम से दर्शाया जायेगा। ताकि यहां से गुजरने वाला हर शख्स देश के महान सपूत उत्तराखंड के गौरव शहीद रावत से प्रेरणा ले सके।

इस मौके पर सहायक अभियंता आनंद मिश्रवाण, पार्षद मनीष बनवाल, विपिन पंत, विजय बडोनी, बिजेन्द्र मोघा, गुरविंदर सिंह गुरी, कमला गुनसोला,रवि शर्मा, यसवंत रावत,रूपेश गुप्ता, हर्ष व्यास, रंजन अंथवाल, रेखा सजवाण, राजेश गौतम, दिनेश बिष्ट, रिंकी राणा, संजय बिष्ट, अक्षय कौशिक, सफाई निरीक्षक धीरेंद्र सेमवाल, अभिषेक मल्होत्रा मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- देहरादून: दूसरे दिन भी पदभार ग्रहण नहीं कर सके डा. अविनाश, जानिए क्यों मचा है घमासान

Edited By: Raksha Panthri