जागरण संवाददाता, देहरादून। नगर निगम में मुख्य नगर स्वास्थ्य अधिकारी के पद पर घमासान कम होने का नाम नहीं ले रहा है। शासन के आदेश पर नगर निगम में उक्त पद पर भेजे गए डा. अविनाश खन्ना शुक्रवार को दूसरे दिन भी पदभार ग्रहण नहीं कर सके। इससे पूर्व उन्होंने गुरुवार को नगर आयुक्त अभिषेक रूहेला से मिलकर अपना तैनाती पत्र सौंपा था। तब नगर आयुक्त ने महापौर सुनील उनियाल गामा से वार्ता के बाद पदभार सौंपने की बात कही थी। शुक्रवार को नगर आयुक्त ने डा. खन्ना को पदभार ग्रहण करने को हरी झंडी दे दी, लेकिन महापौर के कार्यालय में न होने के कारण डा. खन्ना पदभार ग्रहण नहीं कर सके। अब शनिवार व रविवार को अवकाश है। ऐसे में डा. खन्ना ने सोमवार को आने की बात कही है।

नगर निगम दून में मुख्य नगर स्वास्थ्य अधिकारी की नवीन तैनाती विवादों में घिर गई है। तबादले के बावजूद महापौर समेत निगम प्रशासन पुराने अधिकारी को रिलीव नहीं कर रहे व इसके कारण नए अधिकारी पदभार ग्रहण नहीं कर पा रहे। वर्तमान में मुख्य नगर स्वास्थ्य अधिकारी के पद पर डा. कैलाश जोशी तैनात हैं, जो स्वास्थ्य महानिदेशालय में संयुक्त निदेशक की भी जिम्मेदारी देख रहे। वरिष्ठ नगर स्वास्थ्य अधिकारी के पद पर डा. आरके सिंह नगर निगम में तैनात हैं। दो माह पहले शासन ने इन दोनों के तबादले कर दिए थे, लेकिन स्वच्छता का हवाला देकर महापौर ने दोनों को रिलीव नहीं किया। बाद में महापौर ने दोनों के तबादले रुकवा दिए।

पिछले दिनों शासन ने डा. सिंह का तबादला हरिद्वार कर दिया जबकि मुख्य नगर स्वास्थ्य अधिकारी के पद पर रुद्रपुर में तैनात चिकित्साधिकारी डा. अविनाश खन्ना की तैनाती के आदेश दिए। डा. अविनाश गुरुवार को मुख्य नगर स्वास्थ्य अधिकारी का पदभार ग्रहण करने पहुंचे थे लेकिन निगम प्रशासन ने उन्हें एक दिन के लिए रोक दिया था। उन्हें शुक्रवार को पदभार सौंपने की बात कही थी लेकिन डा. खन्ना को शुक्रवार को भी बैरंग लौटना पड़ा।

यह भी पढ़ें- देहरादून: नगर निगम पहुंचे डा. खन्ना नहीं ग्रहण कर पाए पदभार, जानिए क्या है वजह

Edited By: Raksha Panthri