देहरादून, जेएनएन। देहरादून में निरंजनपुर फल व सब्जी मंडी को तीन दिन के लिए बंद कर दिया गया है। इसकी सूचना मिलते ही फुटकर विक्रेता  मनमाने दाम में सब्जी बेच रहे हैं। इससे आम लोगों के पहुंच से सब्जी दूर होती जा रही है।  

निरंजनपुर मंडी में एक आढ़ती के यहां काम करने वाले एक व्यक्ति के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद मंडी में आढ़तियों और कर्मचारियों में दहशत का माहौल है। सुरक्षा के मद्देनजर मंडी में अब सेनिटाइजेशन किया जा रहा है। इसके लिए मंडी समिति ने शनिवार से तीन दिन मंडी बंद को बंद कर दिया है। आज सुबह से यहां दुकानों और गोदामों को पूर्णतया सेनिटाइज करने का काम शुरू कर दिया गया है। इसके बाद बुधवार को व्यापार के लिए मंडी खोल दी जाएगी।  डी ब्लॉक की 11 दुकानें अभी सील ही रहेंगीं।

हाई रिस्क जोन होने के बावजूद मंडी में अब तक हालात काफी हद तक सामान्य थे। बीते गुरुवार को मंडी में एक आढ़ती के यहां काम करने वाले व्यक्ति में कोरोना की पुष्टि हो गई। हालांकि, बीमारी के कारण व्यक्ति के कई दिनों से मंडी न आने की बात कही जा रही है, लेकिन इस दौरान वह किस-किस के संपर्क में रहा यह कहा नहीं जा सकता।

ऐसे में सुरक्षा के लिहाज से मंडी समिति के अध्यक्ष राजेश शर्मा और सचिव विजय थपलियाल ने मंडी की टीम के साथ परिसर का निरीक्षण कर सेनिटाइजेशन का कार्य करवाया। इस दौरान आढ़तियों से दुकान और गोदाम खाली करवाए गए। मंडी अध्यक्ष राजेश शर्मा ने बताया कि मंडी में संक्रमण का खतरा शुरू से ही अधिक था, लेकिन यहां एहतियात भी बरती जा रही थी। कोरोना संक्रमित व्यक्ति को लेकर कुछ भी कहना संभव नहीं है। 

मंडी में अभी संक्रमण के स्रोत की कोई जानकारी नहीं है। सुरक्षा के लिहाज से अब तीन दिन तक मंडी में सेनिटाइजेशन का कार्य किया जाएगा। इस दौरान दुकानों और गोदामों को अच्छी तरह सेनिटाइज किया जाएगा। शनिवार को मंडी में व्यापार होने के बाद इसे तीन दिन के लिए बंद कर दिया गया है। अब मंगलवार देर रात को ही मंडी में व्यापार होगा।

मंडी बंद की सूचना मिली तो मनमानी शुरू

सेनिटाइजेशन के लिए निरंजनपुर मंडी बंद किए जाने की सूचना मिलते ही फुटकर में मनमानी शुरू हो गई। शनिवार से तीन दिन मंडी बंद रहने के बहाने फुटकर विक्रेता लोगों को मोटा दाम वसूल रहे हैं। शुक्रवार को मंडी में आंशिक कारोबार हुआ, शनिवार को भी यही स्थिति थी। इसके बाद मंडी चार दिन के लिए बंद कर दी गई। ऐसे में फुटकर विक्रताओं ने फल-सब्जी के दामों में जबरदस्त इजाफा कर दिया।

मंडी बंद होने की सूचना मिलने पर फल-सब्जी की दुकानों में भीड़ उमड़ने लगी। व्यापारियों ने भी इसका खूब फायदा उठाया। मंडी बंद होने की सूचना को फुटकर विक्रेताओं ने खूब भुनाया। बाजार में कुछ फुटकर विक्रेताओं ने तो दो से तीन गुने अधिक दामों पर सब्जियां बेचीं। इसके अलावा शहर में लगने वाली ठेलियों पर भी कमोबेश यही आलम रहा। प्रशासन की ओर से कालाबाजारी रोकने को अथक प्रयास किए जाने का दावा किया जा रहा है। 

बाजार में पहुंचा दी गई पर्याप्त सब्जी 

देर रात एक बजे मंडी खुलने के बाद शनिवार सुबह आठ बजे मंडी को बंद कर दिया गया। शनिवार सुबह मंडी से पर्याप्त मात्र में सब्जी बाजार में भेज दी गई। ताकि तीन दिन तक सब्जी की किल्लत जैसी स्थिति न बने। मंडी सचिव ने बताया कि अधिकांश फल-सब्जी को मंडी से बाहर निकलवा दिया गया ।

आढ़ती ने कराया कोरोना टेस्ट

मंडी में जिस आढ़ती के पास कोरोना संक्रमित व्यक्ति काम करता था उसने एहतियात के तौर पर खुद का कोरोना टेस्ट कराया। जिसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई है। पर आढ़ती को अभी 14 दिन होम क्वारंटाइन रहना होगा। अभी लक्षण न होने और रिपोर्ट निगेटिव आने का यह मतलब नहीं कि आढ़ती में संक्रमण संभव नहीं है। कोरोना के लक्षण सामने आने में कुछ दिन का समय लग जाता है।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: देहरादून से गांव आए परिवार को ग्रामीणों ने होम क्वारंटाइन से रोका Chamoli News

10 दिन से मंडी नहीं गया था संक्रमित व्यक्ति

गुरु रोड निवासी संक्रमित व्यक्ति के पिता ने बताया कि उसे पीलिया हो रखा है। जिसके चलते वह 11 मई से घर पर ही था। इसके बाद तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उसे कोरोना टेस्ट कराने के लिए कहा गया और गुरुवार को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: रेड जोन से दून पहुंचे 297 प्रवासियों को किया संस्थागत क्वारंटाइन

Posted By: Bhanu Prakash Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस