जागरण संवाददाता, देहरादून। कोरोना के डेथ आडिट के लंबित मामलों में रिपोर्ट न देने वाले अस्पतालों को जिलाधिकारी ने आज दोपहर 12 बजे तक का समय दिया है। जिलाधिकारी डा. आशीष श्रीवास्तव ने चेतावनी दी है कि जिन अस्पतालों ने समय पर रिपोर्ट नहीं दी उनके लाइसेंस को निरस्त करने की कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमितों की मौत पर पूरी तरह स्थिति स्पष्ट होना जरूरी है।

जिलाधिकारी डॉ. आशीष श्रीवास्तव ने दो दिन पूर्व स्वास्थ्य विभाग की बैठक लेते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए थे कि जो अस्पताल डेथ आडिट में सहयोग नहीं कर रहे हैं, उनकी सूची बनाई जाए। अस्पतालों को एनसीडीसी फार्म पर नोटिस भेजा गया। क्लीनिकल इस्टेब्लिशमेंट एक्ट और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मुख्य चिकित्सा अधिकारी को ऐसे अस्पतालों का लाइसेंस निरस्त करने के निर्देश दिए गए। अस्पतालों को शनिवार दोपहर 12 बजे तक रिपोर्ट देने को कहा गया है। जिलाधिकारी ने शुक्रवार को एडीएम प्रशासन को निर्देश दिए कि जो अस्पताल तय समय पर रिपोर्ट न दें, उनके लाइसेंस निरस्त करने की संस्तुति सीएमओ को भेज दी जाए।

इसके अलावा जिलाधिकारी ने एडीएम प्रशासन को आशारोड़ी चेकपोस्ट पर बनाए गए सैंपलिंग सेंटर पर शारीरिक दूरी के संग व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए। एसपी सिटी को वहां चेकिंग के निर्देश दिए गए। उन्होंने समस्त एसडीएम को निर्देश दिए कि सीमा पर बनाए सैंपलिंग सेंटरों पर संबंधित सीओ के साथ समन्वय बनाकर चेकिंग की जाए। उन्होंने एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, आइएसबीटी पर आने वाले प्रत्येक व्यक्ति का सैंपल लेने और आंबेडकर चौक घंटाघर आदि स्थानों पर हो रही सैंपलिंग में शारीरिक दूरी बनाने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Coronavirus Update: उत्तराखंड में शुक्रवार को आए कोरोना के 222 नए मामले, सक्रिय मामले भी घटे

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Raksha Panthri