देहरादून, जेएनएन। स्टार्टअप फिनाले में दून समेत प्रदेश के विभिन्न विवि और कॉलेजों के छात्र-छात्राओं को आआइटी रुड़की के साथ ही आइआइएम काशीपुर के छात्रों से कड़ी चुनौती मिलेगी। विदित हो कि उत्तराखंड स्टार्टअप यात्रा का आयोजन प्रदेश उद्योग निदेशालय की ओर से किया जा रहा है। पहले चरण में 'उत्तराखंड स्टार्टअप बूट कैंप' से 60 स्टार्टअप फिनाले के लिए चुन लिए गए हैं। जिसमें आइआइटी रुड़की के छात्रों के स्टार्टअप भी शामिल हैं। 10 व 11 अक्टूबर को आइआइएम काशीपुर में बूट कैंप आयोजित होगा जिसमें आइआइएम के छात्र नवाचार आइडिया देंगे। 

राज्य सरकार ने उत्तराखंड के उच्च शिक्षा प्राप्त युवाओं को युवा उद्यमी बनने का अवसर दिया है। पढ़ाई करने के साथ-साथ 'नवाचारी विचार' (इनोवेटिव आइडिया) देने वाले छात्रों को राज्य स्तर पर नकद पुरस्कार से नवाजा जाएगा। सरकार युवाओं की रचनात्मकता (क्रिएटिविटी) को न केवल देश-प्रदेश स्तर पर ख्याति देगी बल्कि भविष्य में एक सफल उद्यमी बनाने में हरसंभव मदद देगी।

सरकार प्रदेश में इंजीनियरिंग के छात्रों के लिए स्टार्टअप इकोसिस्टम तैयार कर रही है। सरकार का ध्येय है कि अधिक से अधिक उच्च शिक्षा प्राप्त युवा नवाचारी विचारों को लेकर एक मंच पर आएं। जिनके बीच प्रतियोगिताएं होंगी ओर अंत में प्रदेश के दस सर्वोच्च नवाचारी विचारों को नकद इनाम देकर सम्मानित किया जाएगा। बीते तीन सितंबर से स्टार्टअप बूट कैंप आरंभ हो चुके हैं, जो 16-17 अक्टूबर तक चलेंगे। अभी तक 11 जिलों में बूट कैंप आयोजित किए जा चुके हैं जिनमें 1420 छात्र-छात्राएं प्रतिभाग कर चुके हैं। इन छात्रों ने 140 नवाचार आइडिया दिए जिनमें से 60 को स्टार्टअप फिनाले के लिए चुन लिया गया है। 

इन जिलों में स्टार्टअप शिविर संपन्न 

कॉलेज आफ इंजीनियरिंग रुड़की (हरिद्वार) और प्रोद्योगिकी संस्थान गोपेश्वर (चमोली), राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय उत्तरकाशी (उत्तरकाशी),कॉलेज आफ फॉरेस्ट्री रानीचौरी (टिहरी), जीबी पंत इंजीनियरिंग कॉलेज घुड़दौड़ी (पौड़ी), राजकीय महाविद्यालय रुद्रप्रयाग (रुद्रप्रयाग), जीबी पंत कृषि और प्रौद्योगिकी विवि पंतनगर (ऊधम सिंहनगर ) के अलावा सितंबर के अंत में क्वांटम विवि रुड़की (हरिद्वार) में बूट कैंप हो चुके हैं। जबकि भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान काशीपुर (ऊधम सिंह नगर ) में 10-11 अक्टूबर को बूट कैंप होगा। 

स्टार्टअप कैंप के विशेषज्ञ संस्थान 

यूनिवर्सिटी आफ पेट्रोलियम एंड इनर्जी स्टडीज (यूपीईएस), ग्राफिक एरा डीम्ड विवि, पीएचडी चैंबर्स ऑफ कामर्स और आइआइटी रुड़की के विशेषज्ञ स्टार्टअप बूट कैंप परीक्षा ले रहे हैं। 

उद्योग विभाग के उपनिदेशक राजेंद्र कुमार का कहना है कि प्रत्येक जिले से 10-10 सर्वश्रेष्ठ स्टार्टअप को 'आइडिया ग्रैंड चैलेंज' प्रतियोगिता के लिए चुना जाएगा। यूनिवर्सिटी ऑफ पेट्रोलियम और इनर्जी स्टडीज, देहरादून (यूपीईएस) में फिनाले  होगा। जिसमें टॉप टेन आइडिया के हर विजेता को प्रदेश सरकार की ओर से 50-50 हजार रुपये बतौर पुरस्कार मिलेगा। 

यह भी पढ़ें: स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन में उत्तराखंड से 27 चैलेंज शामिल, पढ़िए पूरी खबर

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस