टीम जागरण, देहरादून : देहरादून की शांत वादियों में लव मैरिज का ऐसा अंजाम हुआ कि हर सुनने और देखने वाले की रुह कांप गई। 11 वर्षों पहले हुए इस अपराध ने पूरे देश को हैरान कर दिया था। पेशे से एक साफ्टवेयर इंजीनियर राजेश गुलाटी ने झगड़ा होने के बाद अपनी पत्‍नी अनुपमा को मौत के घाट उतार दिया था। राजेश ने अनुपमा के साथ 1999 में लव मैरिज की थी। लेकिन किसी ने नहीं सोचा था कि लव मैरिज का ऐसा अंजाम होगा।

राजेश ने अनुपमा के शव के किए थे 72 टुकड़े

2010 में सामने आया बहुचर्चित अनुपमा गुलाटी हत्याकांड कई माह तक सुर्खियों में रहा। पत्‍नी को गला घोंट कर मौत के घाट उतारने के बाद राजेश गुलाटी ने निर्ममता से उसके शव के 72 टुकड़े कर दिए थे। राजेश ने पूछताछ में बताया था कि उसने किस तरह इस खौफनाक अपराध को अंजाम दिया था।

डीप फ्रीजर में छिपाए रखे थे शव के टुकड़े

अनुपमा मूल रूप से दिल्‍ली की रहने वाली थी, जो अपने पति राजेश गुलाटी के साथ देहरादून के कैंट क्षेत्र के प्रकाश नगर में रहती थी। यहीं अनुपमा की हत्‍या की गई थी। 17 अक्टूबर 2010 को हत्या करने के बाद राजेश ने स्टोन कटर और आरी से शव के 72 टुकड़े किए थे। शव के टुकड़ों को उसने घर के अंदर डीप फ्रीजर में छिपाए रखा।

डीप फ्रीजर कांड के नाम से जाना जाता है हत्‍याकांड

शव को ठिकाने लगाने के लिए वह रोजाना एक टुकड़ा काली थैली के डालकर ले जाता था और मूसरी रोड पर जंगलों में फेंक देता था। डीप फ्रीजर कांड के नाम से भी जान जाता है। हत्‍या के बाद उसने अपने अपने व्‍यवहार में कोई बदलाव नहीं किया। वह रोज की तरह काम पर जाता था। वह अपने दोनों बच्‍चों को बताता था कि मां दिल्‍ली गई है और कुछ दिन में आ जाएगी।

राजेश और अनुपमा गुलाटी के दो बच्‍चे भी उनके साथ ही रहते थे, जबकि अनुपमा का मायका दिल्ली में था। अनुपमा की अक्सर दिल्ली में अपने माता-पिता से बात होती थी। लेकिन 17 अक्टूबर, 2010 के बाद जब उनका अनुपमा से कोई संपर्क नहीं हुआ, जिसके बाद चिंतित माता-पिता ने अनुपमा के भाई सिद्धांत प्रधान को देहरादून भेजा।

11 दिसंबर, 2010 को अनुपमा का भाई अनुपमा के घर पहुंचा। लेकिन राजेश ने उसे घर में तक नहीं घुसने दिया। इसके बाद सिद्धांत ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस जब मौके पर पहुंची तो उनके होश उड़ गए। घर में डीप फ्रीजर से अनुपमा गुलाटी की लाश के टुकड़े मिले। जिसके बाद पुलिस ने राजेश गुलाटी को गिरफ्तार कर लिया। देहरादून के बहुचर्चित हत्याकांड में सात साल बाद राजेश गुलाटी को दोषी करार किए जाने के बाद उम्रकैद की सजा सुनाई।

पुलिस को दिए बयान में राजेश गुलाटी ने बताया था कि उसने हालीवुड मूवी की तर्ज पर उसने हत्‍या प्‍लान की थी। उसने बताया था कि कोलकाता में उसकी एक और पत्‍नी है, जिससे उसका एक बच्‍चा भी है। हत्‍या से कुछ दिन पहले ही अनुपमा ने राजेश से कुछ रुपयों की मांग की थी। जिसके बाद दोनों में विवाद हो गया था। विवाद इतना बढ़ गया था कि हालीवुड मूवी देखते वक्‍त राजेश के मन में अनुपमा की हत्‍या का ख्‍याल आया।

यह भी पढ़ें :- हरिद्वार : गैंगवार मामले में आकाश उर्फ हकला गिरफ्तार, अब तक छह आरोपित लिए जा चुके हैं हिरासत में

Edited By: Nirmala Bohra