संवाद सूत्र, चकराता/त्यूणी: गुरुवार सुबह हरिद्वार से सवारी लेकर शिमला जा रही एचआरटीसी की बस कोटा-क्वानू के पास अनियंत्रित होकर सड़क पर पलट गई। हादसे में चालक समेत बस में सवार चार लोग चोटिल हो गए। चालक की सूझबूझ के चलते क्षेत्र में एक बड़ा हादसा होने से टल गया। बताया जा रहा है कि जिस वक्त बस पलटी उसमें 25 लोग सवार थे, जिनकी जिंदगी सुरक्षित बच गई। घटना के संबंध में राजस्व उपनिरीक्षक क्वानू आरएल शर्मा ने जांच रिपोर्ट तहसीलदार चकराता को प्रेषित की है।

जानकारी के अनुसार यात्रियों से भरी हिमाचल परिवहन निगम की बस हरिद्वार से शिमला जा रही थी। हरिपुर-मीनस-त्यूणी मार्ग पर कोटी-क्वानू के पास संतुलन बिगडऩे से अनियंत्रित होकर बस सड़क पर पलट गई। हादसे में चालक सुनील कुमार निवासी बोधना-चौपाल, परिचालक सुनील निवासी देहरा-कांगड़ा, बस सवार नेपाली मूल की यात्री सपना देवी और सहारनपुर उत्तर प्रदेश निवासी दिलशाद समेत चार लोग चोटिल हो गए। हल्की चोटें आने से क्वानू स्वास्थ्य केंद्र में उनका प्राथमिक उपचार किया गया। बस के सड़क पर पलटने से आसपास के ग्रामीण राहत-बचाव कार्य को तुंरत मौके पर पहुंचे। स्थानीय ग्रामीणों की मदद से बस में सवार सभी यात्रियों को किसी तरह सुरक्षित बाहर निकाला गया।

घटना की सूचना पर राजस्व उपनिरीक्षक रोशनलाल शर्मा टीम के साथ मौके पर पहुंचे और जानकारी ली। नायब तहसीलदार चकराता केशवदत्त जोशी ने कहा कि बस में चालक-परिचालक समेत कुल 25 लोग सवार थे। इनमें चार लोगों को हल्की मामूली चोटें आई है। बस में कुछ तकनीकी खराबी आने से चालक वाहन से नियंत्रण खो बैठा। राजस्व पुलिस ने यात्रियों को अन्य वाहन से गंतव्य के लिए रवाना किया। बस के सड़क पर पलटने से कुछ देर तक हरिपुर-मीनस मार्ग पर जाम लग गया।

डोईवाला में वाहन की टक्कर से सांभर की मौत

देहरादून से हरिद्वार जा रही महिंद्रा सुपरो से टकराकर सड़क मार्ग पर लच्छीवाला वन क्षेत्र अंतर्गत टोल बेरीयर से कुछ दूरी पर एक सांभर की मौत हो गई। वाहन में ड्राइवर समेत आठ लोग सवार थे। जिनमें चार व्यस्क व चार बच्चे शामिल हैं। दुर्घटना में किसी को गंभीर चोटें नहीं आई है। घायलों को अस्पताल ले जाया गया, जहां पर प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई। गाड़ी में बैठी सवारी मेरठ उत्तर प्रदेश की बताई जा रही है। वन क्षेत्राधिकारी लच्छीवाला घनानंद उनियाल के अनुसार घटना सुबह तीन बजे की बताई जा रही है। वाहन स्वामी के विरुद्ध वन्य जीव संरक्षण अधिनियम धारा 9 के तहत जांच कर कार्रवाई की जाएगी। वन विभाग के डाक्टरों द्वारा मृत सांभर का पोस्टमार्टम कर उसे दफनाया जाएगा।

यह भी पढ़ें:- Uttarakhand Accident : बागेश्वर में पांच बंगाली पर्यटकों की मौत, 15 घायल, देखिए मृतक व घायलों की सूची

Edited By: Sunil Negi