ऋषिकेश, जेएनएन। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना के खिलाफ योद्धा की भूमिका निभाने वालों को यूं ही सेल्यूट नहीं किया है। यही कारण है कि इस महामारी के खिलाफ कुछ लोग एक कदम आगे बढ़कर दायित्व निभा रहे हैं। नगर निगम ऋषिकेश सफाई कर्मी हरिओम ने पीठ पर कीटनाशक की टंकी उठाकर दायित्व निभाया। पीठ में घाव पड़ गए। काम का जुनून अब भी उनके सिर पर सवार है।

नगर निगम सफाई कर्मी हरिओम की ड्यूटी ऐसे क्षेत्र में है जहां दो दिन सबसे ज्यादा संक्रमण का खतरा पैदा हो गया था। परिवहन निगम बस अड्डा परिसर को महानगरों से आने वाले सैकड़ों लोगों की भीड़ का दो दिनों में सामना करना पड़ा। नगर निगम के सामने क्षेत्र को संक्रमण से मुक्त रखने की बड़ी चुनौती भी थी। सफाई नायक जितेंद्र के अधीन काम करने वाले 40 वर्षीय हरिओम पूरे क्षेत्र में लगातार कीटनाशक का छिड़काव करते रहे। कीटनाशक दवा ढक्कन से छलक कर पीठ पर गिरती रही। मगर, दायित्व के आगे दर्द को उन्होंने भुला दिया। 

चार दिन से लगातार इस काम को बखूबी निभा रहे हरिओम को बुधवार की सुबह करीब 11 बजे जब परेशानी हुई तो सहायक नगर आयुक्त विनोद लाल ने उन्हें राजकीय चिकित्सालय ले जाकर परीक्षण कराया। पीठ पर कीटनाशक की टंकी की रगड़ से घाव बन गए थे। फिर भी इस योद्धा ने पीड़ा का इजहार नहीं किया। चिकित्सालय में जब उपचार हो गया तो हरिओम फिर से अपनी ड्यूटी के लिए तैयार था। सहायक नगर आयुक्त ने उसे पूरी तरह से स्वस्थ होने तक आराम के लिए घर भेज दिया। 

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Lockdown Update: घबराएं नही, घर-घर सामान पहुंचाएगी टिहरी पुलिस

उन्होंने बताया कि हरिओम जब पूरी तरह से स्वस्थ हो जाएगा तो उसे किसी और काम में लगाया जाएगा। नगर निगम की महापौर अनीता ममगाईं और मुख्य नगर आयुक्त नरेंद्र सिंह क्वीरियाल ने कहा कि हरिओम का काम वाकई सराहनीय है।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: कोरोना से बचाव को बनाई चिकित्सकों की चार टीम Dehradun News

 

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस