राज्य ब्यूरो, देहरादून: राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेनि) तथा राज्य की प्रथम महिला गुरमीत कौर ने राजभवन में कोविड की प्रिकाशन डोज लगवाई। इस दौरान उन्होंने कोरोना काल में उत्कृष्ट कार्य करने वाले स्वास्थ्य कर्मियों को सम्मानित भी किया।

शनिवार को राज्यपाल ने राजभवन में कोविन पोर्टल में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए अनुराग उनियाल, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्यार सिंह तथा विकासनगर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से कोविड सैंपलिंग एवं वैक्सीनेशन के लिए आलम इफ्तिखार को सम्मानित किया। इस दौरान राज्यपाल गुरमीत सिंह ने प्रदेशवासियों से वैक्सीन अवश्य लगाने की अपील की। उन्होंने कहा कि यह ध्यान रखना है कि कोई भी व्यक्ति बिना वैक्सीनेशन के नहीं रहे। वैक्सीनेशन ही वह कवच है जो हमें अदृश्य शत्रु से बचाएगा। उन्होंने कहा कि सभी जिलाधिकारी जल्द से जल्द राज्य के सभी जनपदों में कोविड वैक्सीनेशन का 100 फीसद लक्ष्य प्राप्त करें।

इस दौरान स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि उत्तराखंड में 16 जनवरी 2021 से कोविड वैक्सीनेशन कार्यक्रम सफलतापूर्वक संचालित किया जा रहा है। राज्य में 18 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों को शत प्रतिशत पहली डोज लगाई जा चुकी है। राज्य में 15 से 17 वर्ष की आबादी के 58.9 प्रतिशत बच्चों को पहली डोज दी जा चुकी है। वहीं राज्य में 22 फीसद स्वास्थ्य कर्मी, फ्रंट लाइन वर्कर व बुजुर्गों को प्रिकाशन डोज दी जा चुकी है।

राष्ट्रीय रंगशाला में सांस्कृतिक झलक की पेश

रक्षा मंत्रालय द्वारा दिल्ली स्थित राष्ट्रीय रंगशाला में आयोजित कार्यक्रम में उत्तराखंड के कलाकारों ने प्रदेश की सांस्कृतिक झलक पेश की। इस दौरान कलाकारों ने प्रदेश की झांकी के साथ पारंपरिक वेशभूषा में प्रस्तुति भी दी। गणतंत्र दिवस समारोह में 12 राज्यों की झांकी सम्मिलित की गई हैं। इन राज्यों के कलाकारों ने भी कार्यक्रम में अपनी प्रस्तुति दी।

शनिवार को दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम की जानकारी देते हुए सूचना विभाग के संयुक्त निदेशक एवं नोडल अधिकारी केएस चौहान ने बताया कि गणतंत्र दिवस परेड में राज्य से 16 कलाकार हिस्सा ले रहे हैं। उत्तराखंड की झांकी का विषय देवभूमि उत्तराखंड रखा गया है। उन्होंने कहा कि राजपथ पर इस बार उत्तराखंड की झांकी देवभूमि उत्तराखंड सबके लिए आकर्षण का केंद्र रहेगी।

यह भी पढ़ें:-Uttarakhand Corona Update: उत्‍तराखंड में लगातार पांचवें दिन आए कोरोना के पांच हजार के करीब मामले, सात मरीजों की हुई मौत

Edited By: Sunil Negi