विकासनगर, [जेएनएन]: थाईलैंड के बैंकाक में हुई एशियन कांटिनेंटल फुटबॉल चैंपियनशिप में विजेता बनी भारतीय टीम के खिलाड़ी पंडितवाड़ी निवासी पुनीत कांति ने शानदार प्रदर्शन किया। दून लौटने पर कांति का जोरदार स्वागत किया गया। पुनीत मूल रूप से चमोली जिले के नारायणबगड़ ब्लॉक के कोठली चिरखुन गांव निवासी हैं। यहां वह अपने चाचा सुधीर कांति के साथ पंडितवाड़ी में रहते हैं। उनके चाचा राइंका सोरना डोभरी में बतौर प्रवक्ता तैनात हैं। 

थाईलैंड के बैंकाक में 26 से 29 अक्टूबर तक अंडर-18 एशियन कांटिनेंटल फुटबॉल चैंपियनशिप का आयोजन किया गया। जिसमें 16 देशों की टीमों ने प्रतिभाग किया। एटीएफ स्पोर्टस की ओर भारतीय टीम को चैंपियनशिप में खेलने के लिए भेजा गया था। जिसमें बतौर डिफेंडर पुनीतकांति भी शामिल थे। 

पुनीत के शानदार प्रदर्शन के बूते भारतीय टीम ने खेले गए पांच मैचों पर विजय हासिल कर चैंपियनशिप पर कब्जा किया। गृह नगर वापस लौटने पर अंतरराष्ट्रीय फुटबाल खिलाड़ी पुनीत ने बताया कि भारतीय टीम ने पहला मैच ईरान के साथ खेला जो 1-1 की बराबरी पर रहा। जबकि नेपाल को दूसरे मैच में 2-0 और पाकिस्तान को 2-1 से हराया। सेमीफाइनल में अफगानिस्तान को 2-1 से और फाइनल में तुर्कमेनिस्तान को 1-0 से धूल चटाई। 

बैंकाक से लौटने पर पुनीत का स्थानीय लोगों के साथ ही राइंका डोभरी में कार्यरत शिक्षकों ने भव्य स्वागत किया। इस दौरान खिलाड़ी के पिता सुभाष कांति, माता शशि कांति, राकेश कुमार सिंह, देवी प्रसाद थपलियाल, वीरेंद्र दत्त आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: कबड्डी में नारसन व जेआर इंस्टीट्यूट का जीत से आगाज

यह भी पढ़ें: नेशनल बॉक्सिंग में पिथौरागढ़ के दुर्योधन ने जीता रजत पदक

यह भी पढ़ें: वॉलीबाल में श्रीदेव सुमन और उत्तराखंड तकनीकी विश्वविद्यालय ने जीते मैच

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप