ऋषिकेश, जेएनएन। ऋषिकेश एम्स रोड पर पशुलोक वीआइपी प्लॉट की भूमि पर निर्मित एक बहुमंजिला इमारत की लिफ्ट अचानक टूट कर भूतल पर आ गिरी। धमाके के साथ लिफ्ट के गिरने से आसपास के लोग एकत्र हो गए। करीब पांच मिनट तक लिफ्ट में लोग फंसे रहे। लिफ्ट में सवार पांच लोग घायल हो गए। जिनमें तीन लोगों को हल्की चोट आई। एम्स ऋषिकेश में जिन्हें उपचार दिया गया। एक व्यक्ति की हालत गंभीर है। जिसे देहरादून के निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है।

वीरभद्र मार्ग पर अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान और सीमा डेंटल कॉलेज के बीच कई बहुमंजिला इमारतें बनी है। वीआइपी प्लॉट में एक होटल और बार के पीछे चार मंजिला भवन बनाया गया है। जिसमें कई फ्लैट निर्मित किए गए हैं। घटना गुरुवार दोपहर करीब दो बजे की है। 

इस इमारत में किराये का फ्लैट देखने के लिए पांच लोग पहुंचे थे। ब्रोकर ने इन्हें लिफ्ट में बैठाया, लिफ्ट जैसे ही छत पर पहुंची, रुकते ही तुरंत नीचे की ओर गिरने लगी। कुछ ही पल बाद लिफ्ट भूतल से टकराई। जिसके बाद जोरदार धमाका हुआ। लिफ्ट के अंदर धूल भर गई। अंदर सवार लोगों ने चीखना चिल्लाना शुरू किया। 

आवाज सुनकर आसपास रह रहे लोग वहां पहुंचे। अंदर फंसे लोगों ने किसी तरह से लिफ्ट का दरवाजा तोड़ा। वहां पहुंचे लोगों ने लिफ्ट में सवार पांच लोगों को किसी तरह से बाहर निकाला और सोसायटी में खड़े निजी वाहन से अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान की इमरजेंसी में पहुंचाया। जहां तीन लोगों को मामूली उपचार दिया गया। 

एक व्यक्ति के पैर की हड्डी बाहर निकल गई थी जबकि एक अन्य व्यक्ति के कमर में अंदरूनी गहरी चोट पहुंची है। गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को यहां से इंद्रेश हॉस्पिटल देहरादून ले जाया गया है।

घटना के वक्त लिफ्ट में सवार स्थानीय युवक भाजयुमो के जिला सह सोशल मीडिया प्रभारी गौरव कैंथोला ने बताया कि हम लोग इस इमारत में किराए का फ्लैट देखने गए थे। लिफ्ट में  विनोद पुंडीर, नरेंद्र रतूड़ी, उपेंद्र राणा व एक अन्य सवार थे। गौरव की कमर में अंदरूनी चोट पहुंची है। एम्स में आवश्यक परीक्षण और उपचार के बाद वह घर पर ही स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। इस हादसे के बाद यहां बनी ऊंची इमारतों की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े हो गए हैं।

अवैध भवनों की होगी जांच 

एमडीडीए के उपाध्यक्ष डॉ. आशीष श्रीवास्तव के मुताबिक, बहुमंजिला इमारत की लिफ्ट टूटना गंभीर मामला है। एमडीडीए और जनसुरक्षा से जुड़े सभी मानकों का यहां निर्मित इमारतों में कितना पालन हो रहा है। इसकी जांच कराई जा रही है। अवैध पाए जाने वाले भवनों के स्वामियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जांच के लिए टीम गठित की जा रही है। 

यह भी पढ़ें: लापरवाही की इन्तहा: दून अस्पताल की लिफ्ट में फिर फंसे तीन लोग Dehradun News

की जाएगी कार्रवाई 

मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण के सचिव एसएल सेमवाल के अनुसार, वीरभद्र मार्ग पर आम बाग वीआइपी प्लाट और संबंधित क्षेत्र में जो भी इमारतें बनी है,वह पूर्ण रूप से अवैध है। एमडीडीए से इनका नक्शा पास नहीं है। इन सभी के खिलाफ जांच और कार्रवाई विचाराधीन है। जिस इमारत की लिफ्ट टूटी है उसके खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: दून अस्पताल की बड़ी लापरवाही, एक घंटे लिफ्ट में फंसे रहे छह लोग

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस