देहरादून, जेएनएन। सालाना 250 करोड़ रुपये के घाटे में चल रहे राज्य परिवहन निगम (रोडवेज) ने भ्रष्ट कर्मियों पर सख्त कार्रवाई शुरू कर दी है। हल्द्वानी डिपो की दिल्ली जा रही बस में डीजल की चोरी का मामला सामने आने और जांच के बाद मुख्यालय ने आरोपी बस चालक और परिचालक को बर्खास्त कर दिया। अब तक ऐसे मामलों में केवल चालक के खिलाफ ही कार्रवाई होती थी, मगर अब परिचालक भी बख्शे नहीं जाएंगे। महाप्रबंधक प्रशासन निधि यादव ने बताया कि डीजल चोरी के मामले में चालक के साथ परिचालक पूरी तरह शामिल होता है, इसलिए कार्रवाई के नियम बदले गए हैं। 

आपको बता दें कि सात दिसंबर को दिल्ली जा रही हल्द्वानी डिपो की बस (यूके07- पीए-1160) में यात्रियों की मौजूदगी में ही चालक-परिचालक ने डीजल टैंक की जाली तोड़कर डीजल चोरी की कोशिश की थी। इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद निगम मुख्यालय ने जांच बैठा दी थी। 

जांच के बाद मंगलवार को महाप्रबंधक ने आरोपी चालक चंदन सिंह और परिचालक अवधेश कुमार को बर्खास्त कर दिया। यह दोनों विशेष श्रेणी के कार्मिक थे। मामलों की रोकथाम के लिए महाप्रबंधक ने सभी चेकिंग निरीक्षकों व सहायक निरीक्षकों को निर्देश दिए कि मार्ग पर और ढाबों पर बसों की विशेष तौर पर जांच की जाए। 

इतना ही नहीं चेतावनी दी गई कि अगर ऐसा मामला फिर सामने आता है तो संबंधित डिपो के सहायक महाप्रबंधक व स्टेशन प्रभारी भी जिम्मेदार होंगे और उनके विरुद्ध भी सख्त कार्रवाई की जाएगी।  

कर चोरी के मामलों पर भी कार्रवाई 

महाप्रबंधक निधि यादव ने बसों में बिना बुक किए माल लाने पर भी चालक और परिचालक के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए हैं। महाप्रबंधक के अनुसार बसों में बिना बुक किए माल चालक व परिचालक की सांठगांठ से लाया जाता है। चेकिंग में ऐसे मामलों की धरपकड़ के निर्देश दिए। साथ ही चेतावनी दी कि अगर मार्ग में इस तरह के मामले मुख्यालय स्तर पर पकड़े गए तो संबंधित प्रवर्तन अधिकारी पर भी कार्रवाई की जाएगी। 

आठ बने सहायक यातायात निरीक्षक 

रोडवेज प्रबंधन ने आठ कनिष्ठ लिपिकों को सहायक यातायात निरीक्षक के पद पर पदोन्नति दी है। मंडलीय प्रबंधक संचालन पवन मेहरा ने मंगलवार को इसका आदेश जारी किया। उन्होंने एक सप्ताह में कार्मिकों को नई तैनाती पर जाने के आदेश दिए हैं। सहायक यातायात निरीक्षक बनने वालों में से संजय शर्मा को ऋषिकेश डिपो, नरेश कुमार को रुड़की डिपो, बृजपाल सिंह और सत्यपाल सिंह को आइएसबीटी दिल्ली में नियुक्त किया गया है। राजपाल सिंह को दून में बी डिपो, सोरन सिंह और चंद्रपाल सिंह को हरिद्वार डिपो व सुरेश कुमार को कोटद्वार डिपो में नियुक्ति दी गई है। 

यह भी पढ़ें: विद्युत योजनाओं में हुर्इ गड़बड़ी की होगी जांच, नहीं बख्शे जाएंगे दोषी

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के हर जिले में 'सौभाग्य' कनेक्शनों की जांच शुरू, जानिए वजह

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप