जागरण संवाददाता, देहरादून : पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य और उनके पुत्र पूर्व विधायक संजीव आर्य पर शनिवार को बाजपुर में हुए हमले के विरोध में रविवार को कांग्रेस नेता व कार्यकत्र्ताओं ने मुख्यमंत्री आवास कूच किया। हालांकि कांग्रेसियों के काफिले को पुलिस ने हाथीबड़कला बैरिकेड पर ही रोक लिया। इस पर कांग्रेसी वहीं सड़क पर धरने पर बैठ गए। इसके अलावा प्रदेशभर के जिला व ब्लाक मुख्यालयों पर भी कांग्रेसियों ने सरकार के खिलाफ धरना दिया। नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि हमला सरकार की शह पर नहीं हुआ तो आरोपितों के नाम सार्वजनिक किया जाए और उन्हें सलाखों के पीछे डाला जाए।

रविवार दोपहर 12 बजे से करीब एक घंटे तक महानगर कांग्रेस, युवा कांग्रेस, महिला कांग्रेस, सेवादल के कार्यकत्र्ताओं ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। दोपहर करीब एक बजे कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत भी हल्द्वानी से लौटकर सीधे हाथीबड़कला धरना स्थल पहुंचे। पत्रकारों से बातचीत करते हुए हरीश रावत ने कहा कि बाजपुर में पूर्व मंत्री यशपाल आर्य व उनके पुत्र संजीव आर्य पर हुए हमले की पूरी जानकारी जुटाई गई है। इसका कड़ा विरोध करते हुए मैंने मुख्यमंत्री और पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार से फोन पर बात कर आरोपितों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है। हरीश रावत ने आरोप लगाए कि सत्ता की शह पर यह हमला करवाया गया है। भाजपा राजनैतिक की बजाय ङ्क्षहसक लड़ाई पर उतर आई है। इसे उत्तराखंड की जनता बर्दाश्त नहीं करेगी।

धरने में कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव, सह प्रभारी दीपिका पांडे, नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह, पूर्व विधायक राजकुमार, कांग्रेस उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना शामिल रहे। वहीं पूर्व मंत्री दिनेश अग्रवाल, महानगर कांग्रेस अध्यक्ष लालचंद शर्मा, कांग्रेस की प्रवक्ता गरिमा दसौनी, डा. प्रतिमा सिंह, महेश जोशी, युवा इंटक के प्रदेश अध्यक्ष संग्राम सिंह पुंडीर, युकां के प्रदेश उपाध्यक्ष एडवोकेट संदीप चमोली, विकास नेगी आदि मौजूद रहे।

साजिशन करवाया गया हमला : गोदियाल

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने आरोप लगाया कि भाजपा नेताओं ने साजिशन यह हमला करवाया। सूचना देने के बावजूद सिर्फ दो पुलिसकर्मी मौके पर भेजे गए। बताया कि शनिवार को बाजपुर में कांग्रेस का सदस्यता अभियान कार्यक्रम था। इसमें पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य और उनके बेटे संजीव को भी शामिल होना था, लेकिन कार्यक्रम स्थल से कुछ दूर पहले उनके काफिले को घेर लिया गया। घटना के बाद कांग्रेस ने पूरे प्रदेश में सरकार पर हमला बोलना शुरू कर दिया है। अब हम चुप नहीं बैठेंगे।

यह भी पढ़ें:- कांग्रेस प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने कहा- आर्य पर हुआ हमला लोकतंत्र की हत्या

Edited By: Sunil Negi