जागरण संवाददाता, ऋषिकेश: कांग्रेस नेता व पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य व उनके पुत्र विधायक संजीव आर्य के ऊपर विगत दिवस बाजपुर में हुए हमले का चौतरफा विरोध जारी है। कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने इसे लोकतंत्र की हत्या बताया। प्रदेश महामंत्री ने विजय सारस्वत ने कांग्रेस की लोकप्रियता से भाजपा बोैखलाना बताया। प्रदेश महासचिव राजपाल खरोला ने हमले को कांग्रेस से जुडऩे वाले भाजपाइयों को धमकाने वाला बताया।

शनिवार को कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव दून पहुंचे थे।

जौलीग्रांट एयरपोर्ट में कार्यकर्त्‍ताओं ने उनका स्वागत किया। प्रदेश प्रभारी ने कहा कि जो भी व्यक्ति सरकार के विरुद्ध जा रहा है। सरकार की ओर से उस पर सीबीआइ या अन्य एजेंसी के माध्यम से दबाव बनाया जाता है। जब इन सब में वह कामयाब नहीं होती तो इस तरह की हरकत कर लोकतंत्र की हत्या करती हैं। उन्होंने कहा कि सरकार चाहे किसी भी स्तर पर जाए कांग्रेस मजबूती के साथ सरकार की जनविरोधी नीतियों का विरोध करती रहेगी। मौके पर कांग्रेस की सह प्रभारी दीपिका पांडे, विधायक काजी निजामुद्दीन, आर्येन्द्र शर्मा, राजपाल खरोला, कांग्रेस जिला अध्यक्ष गौरव चौधरी, एआइसीसी सदस्य जयेंद्र रमोला, मोहित उनियाल, जिला पंचायत सदस्य अश्वनी बहुगुणा आदि मौजूद रहे।

रेलवे रोड स्थित कांग्रेस भवन के समक्ष महानगर कांग्रेस कमेटी ने प्रदेश सरकार का पुतला फूंका। इस दौरान प्रदेश महामंत्री विजय सारस्वत ने कहा कि कांग्रेस और उसके नेताओं की बढ़ती लोकप्रियता से भाजपा सरकार घबरा गई है। यही कारण है कि लोकप्रिय नेता यशपाल आर्य और उनके पुत्र पर हमला किया गया है।

महानगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष महंत विनय सारस्वत ने कहा कि भाजपा सरकार आतंक पैदा कर रही है। प्रदेश सचिव विजय पाल सिंह रावत ने कहा कि शीघ्र हमलावरों को गिरफ्तार ना किया गया तो पूरे प्रदेश में कांग्रेस उग्र आंदोलन को बाध्य होंगे। पुतला फूंकने वालों में प्रदेश सचिव मदन मोहन शर्मा, प्रदेश सचिव मनोज गुसाईं, नंदकिशोर जाटव, अरविंद जैन, कार्यालय प्रभारी अशोक शर्मा, देवी प्रसाद व्यास, सेवा दल नगर अध्यक्ष रामकुमार, दीपक जाटव, प्यारेलाल जुगलान आदि शामिल थे।

बौखला गई है भाजपा

उत्तराखंड कांग्रेस के प्रदेश महासचिव राजपाल खरोला ने भी हमले पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के उत्तराखंड आगमन के दौरान भाजपा नेताओं की ओर से पूर्व मंत्री यशपाल आर्य, पूर्व विधायक संजीव आर्य व उनके सहयोगियों के ऊपर जानलेवा हमला साफ दर्शाता है की वह कांग्रेस की विचारधारा के साथ जुडऩे वाले भाजपाइयों को धमकाना चाहते हैं। खरोला ने कहा की प्रधानमंत्री की रैली पूर्ण रूप से फ्लाप रही। पूरे सरकारी तंत्र की ताकत झोंकने के बाद भी वह भीड़ इक्कटठा नहीं कर पाए। प्रदेश की जनता को बहकाने के लिए मेरठ, सहारनपुर, दिल्ली आदि प्रदेश के बाहर से लोग को बस में भरकर रैली में लाया गया।

यह भी पढ़ें- पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल के काफिले पर हमले का मामला तूल पकड़ा, हरीश रावत ने सीएम और डीजीपी से की बात

Edited By: Sunil Negi