देहरादून, जेएनएन। कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता पार्टी के घट रहे जनाधार को दोबारा पाने के लिए घर-घर दस्तक दे रहे हैं। 'हर घर कांग्रेस, घर-घर कांग्रेस' अभियान के माध्यम से पार्टी जनता की नब्ज टटोल रही है। साथ ही भाजपा सरकार की नाकामियों को भी जनता के बीच पहुंचा रही है।

शनिवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कैंट विधानसभा क्षेत्र के प्रेमनगर से अभियान की शुरुआत की। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से संवाद करते हुए कहा कि भाजपा सरकार के साढ़े तीन साल का कार्यकाल निराशाजनक है। आज पूरे राज्य की जनता प्रदेश सरकार से निराश है। राज्य में विकास की गतिविधियां ठप पड़ी हैं। किसी भी सरकारी विभाग में भर्ती नहीं हो रही हैं, जिससे बेरोजगारों में आक्रोश है। कोविड-19 से निपटने में सरकार पूरी तरह विफल साबित हुई है। उन्होंने कहा कि जनता ने 2017 में भाजपा को राज्य में पूर्ण बहुमत दिया, बदले में सरकार ने उन्हें कोरी घोषणाओं का झुनझुना पकड़ा दिया।

प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि भाजपा सरकार से परेशान जनता की आशा भरी निगाह अब कांग्रेस की ओर है। इस दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं घरों पर उनके नेम प्लेट लगाने की मुहिम की शुरुआत प्रेमनगर में आशीष देसाई के निवास से की गई। इस दौरान पूर्व विधायक विक्रम सिंह नेगी, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष दीवान सिंह बिष्ट, प्रेमनगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहित ग्रोवर, युवा कांग्रेस प्रदेश महासचिव सुमित खन्ना, पार्षद जितेंद्र तनेजा, महेश शर्मा, आशीष देसाई, अखिलेंद्र प्रताप सिंह, अंकित चंदेल मौजूद रहे।

एनएसयूआइ ने केंद्र के खिलाफ किया सत्याग्रह

भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआइ) के कार्यकर्ताओं ने शनिवार को डीएवी पीजी कॉलेज में महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर केंद्र सरकार के खिलाफ सत्याग्रह किया। एनएसयूआइ के वरिष्ठ नेता विकास नेगी ने कहा कि कोरोना संक्रमण के दौरान अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा कराए जाने का विरोध तब तक जारी रहेगा, जब तक सरकार अपना फैसला वापस नहीं ले लेती।

यह भी पढ़ें: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत के वेतन-भत्तों से अब 30 फीसद कटौती, मिली सहमति

उन्होंने बताया कि एनएसयूआइ की राष्ट्रीय प्रभारी रुचि गुप्ता, राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन और उत्तराखंड प्रभारी सतवीर चौधरी के निर्देश पर एनएसयूआइ देशभर में भारत छोड़ो आंदोलन की 78वीं वर्षगांठ पर सत्याग्रह कर रही है। कहा कि देश कोरोना महामारी की चपेट में है। इसे देखते हुए सभी छात्रों को बिना परीक्षा के प्रोन्नत किया जाना चाहिए। इस मौके पर सुधांशु अग्रवाल, प्रकाश नेगी, उज्ज्वल सेमवाल, अजय सैनी, जतिन कपिल, सौरभ जोशी आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: हरीश रावत ने सरकार को लिया आड़े हाथ, कहा- कोरोना संक्रमण की रोकथाम में पूरी तरह फेल 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस