जागरण संवाददाता, ऋषिकेश। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में बुधवार की देर शाम नर्सिंग इंचार्ज के साथ घर में घुसकर मारपीट की घटना हो गई, जिससे गुस्साए अन्य नर्सिंग ऑफिसर ने एम्स परिसर में जोरदार हंगामा किया। ट्रामा सेंटर के बाहर सभी धरना देकर बैठ गए। डीन चिकित्सालय प्रशासन प्रोफेसर यूबी मिश्रा ने मौके पर आकर कार्यवाही का आश्वासन दिया। मगर तत्काल कार्यवाही की मांग को लेकर नर्सिंग ऑफिसर डेवलपमेंट एसोसिएशन ने गुरुवार से कड़े कदम उठाने की चेतावनी दी है।

जानकारी के मुताबिक बुधवार की शाम करीब साढ़े सात बजे नर्सिंग इंचार्ज घेवर चंद अपने घर पर थे। इस दौरान एक महिला नर्सिंग ऑफिसर का पति अपने कुछ साथियों को लेकर उनके घर पहुंचा और उसने घेवर चंद के साथ पत्नी की ड्यूटी को लेकर विवाद किया। इस दौरान नर्सिंग इंचार्ज को हमला कर बुरी तरह से घायल कर दिया गया। उनके सिर में गंभीर चोट आई। घायल को एम्स की इमरजेंसी में भर्ती कराया गया।नर्सिंग इंचार्ज पर हमले की घटना से ड्यूटी पर मौजूद तमाम नर्सिंग ऑफिसर में आक्रोश फैल गया। सभी लोग एकत्र होकर ट्रामा सेंटर के बाहर सांकेतिक धरने पर बैठ गए। करीब आठ बजे जब शिफ्ट खत्म हुई तो घर जाने वाले नर्सिंग ऑफिसर भी धरने में शामिल हो गए।

इस दौरान रात्रि शिफ्ट में शामिल होने वाले नर्सिंग ऑफिसर भी यही रुक गए। तमाम नर्सिंग ऑफिसर ने मौके पर हमलावर के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग को लेकर धरना शुरू कर दिया। एम्स प्रशासन की ओर से पुलिस को सूचना दी गई। जिस पर एम्स चौकी प्रभारी शिवराम पुलिस फोर्स लेकर मौके पर पहुंचे। इस बीच जब हंगामा नहीं थमा तो एम्स के डीन चिकित्सालय प्रशासन प्रोफेसर यूबी मिश्रा धरना स्थल पर पहुंचे और उन्होंने हंगामा कर रहे नर्सिंग ऑफिसर को समझाने की कोशिश की। सभी प्रदर्शनकारी तत्काल कार्यवाही की मांग कर रहे थे। प्रोफेसर मिश्रा ने आश्वासन दिया कि गुरुवार की सुबह इस मामले में विभागीय स्तर पर कार्यवाही की जाएगी मगर प्रदर्शनकारी नहीं माने।

नर्सिंग ऑफिसर डेवलपमेंट एसोसिएशन एम्स ऋषिकेश के अध्यक्ष प्रकाश चंद मीणा ने बताया कि हमारी मांग है कि हमलावर के खिलाफ पुलिस गिरफ्तारी की कार्रवाई करें और उसकी पत्नी के खिलाफ एम्स प्रशासन कार्यवाही करें। उन्होंने सवाल उठाया कि एम्स परिसर के भीतर नर्सिंग ऑफिसर के आवास तक हमलावर पहुंच गए इस दौरान सुरक्षाकर्मी कहां सोए थे। एम्स प्रशासन इस मामले में तमाम सीसीटीवी फुटेज की जांच कर रहा है।एम्स चौकी प्रभारी शिवराम ने बताया कि पूरा मामला एम्स परिसर का अंदरूनी मामला है। एम्स प्रशासन की शिकायत के आधार पर अगली कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

यह भी पढ़ें- रुड़की: कलियर में दबंगों ने एक मजदूर को बेरहमी से पीटा, वीडियो वायरल

Edited By: Raksha Panthri