देहरादून, राज्य ब्यूरो। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने देश के साथ ही उत्तराखंड में स्वास्थ्य, शिक्षा, महिला सशक्तीकरण, ग्राम्य विकास, कृषक कल्याण और पर्वतीय क्षेत्रों में जीवन स्तर में सुधार को हंस फाउंडेशन के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि व्यापक जनहित में किए जा रहे ये कार्य समाज के लिए वरदान है।

मुख्यमंत्री ने शनिवार को दिल्ली में हंस फाउंडेशन की 10 वर्षगांठ पर आयोजित समारोह में यह बात कही। उन्होंने कहा कि माता मंगला के मार्गदर्शन में हंस फाउंडेशन उत्तराखंड में विजन 2020 पर काम कर रहा है। इसमें बिजली, पानी, स्वच्छता, स्वास्थ्य, शिक्षा, रोजगार जैसे कार्य मुख्य हैं। उन्होंने कहा कि फाउंडेशन द्वारा गरीबों के लिए मल्टी स्पेशियिलिटी हॉस्पिटल और आई हॉस्पिटल भी बनवाए हैं। 
सतपुली में फाउंडेशन ऐसा ही अस्पताल संचालित कर रहा है। 21 मेडिकल मोबाइल वैन भी चलाए जा रहे हैं। यही नहीं, जिला अस्पतालों में मॉर्डन आइसीयू बनाने में भी फाउंडेशन सहयोग कर रहा है। उन्होंने कहा कि मिड डे मील के तहत हाल में ही उत्तराखंड सरकार और अक्षयपात्र के साथ मिलकर फाउंडेशन ने नौ मिड डे मील किचन बनवाने का फैसला किया है, जिनकी लागत लगभग 70 करोड़ है। 
इन किचन के जरिए 390000 बच्चों को स्कूलों और आंगनबाड़ियों में गर्म और पौष्टिक आहार दिया जाएगा। उन्होंने सरकारी स्कूलों में स्मार्ट क्लास, दिव्यांगजनों के कल्याणार्थ योजनाएं समेत अन्य कार्यों का भी उल्लेख किया। उन्होंने विश्वास जताया कि हंस फाउंडेशन इसी प्रकार जनकल्याण के कार्यो से समाज को दिशा प्रदान करता रहेगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस