देहरादून, [जेएनएन]: राजपुर रोड स्थित वार्टर वर्कस में एक बार फिर से क्लोरीन गैस का रिसाव होने से अफरा-तफरी मच गई। आनन फानन क्लोरीन गैस के सिलेंडर हटाए गए। फिलहाल कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ। 

पिछले साल भी वाटर वर्कस में क्लोरीन गैस लीक होने से दस से अधिक लोग बेहोश हो गए थे। तब शासन ने निर्देश दिए थे कि पानी के शुद्धिकरण में क्लोरीन के बजाय दूसरे विकल्प का इस्तेमाल किया जाए। इसके बावजूद एक बार फिर से गैस लीक होने से जल संस्थान की कार्यप्रणाली पर सवाल उठने लगे हैं।   

वाटर वर्क्स में क्लोरीन गैस के 11 सिलेंडर स्टोर रूम में रखे हुए थे। मुख्य महाप्रबंधक एसके गुप्ता के अनुसार पिछली बार हुए हादसे के बाद क्लोरीन गैस रिसाव के बाद सिलेंडरों को खाली कर दिया गया था, लेकिन इसके बावजूद कुछ गैस सिलेंडर में रह जाती है। 

इन्ही सिलेंडरों में से एक सिलेंडर में गैस रिसाव हुआ है। सिलेंडर को पानी मे डाल दिया गया। उन्होंने बताया कि स्थिति सामान्य है। अब जल संस्थान सोडियम हायपोक्लोराइड का इस्तेमाल क्लोरीन की जगह कर रहा है। 

उन्होंने बताया कि स्टोर रूम में क्लोरीन गैस का रिसाव कल ही पकड़ में आ गया था। इसके बाद सिलेंडर पानी मे डाल दिया गया। आज जब सिलेंडर को चेक करने के लिए बाहर निकाला गया तो उसमें से तेजी से गैस बाहर आ निकलने लगी और चारों तरफ फैल गई। दुर्गंध से आसपास लोगों का बुरा हाल हो गया। मुख्य महाप्रबंधक एसके गुप्ता ने बताया कि मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें: पिथौरागढ़ में सिलेंडर फटने से तीन मकान का सामान राख

यह भी पढ़ें: नैनीताल में टेंट हाउस के गोदाम में लगी आग, मची अफरा-तफरी 

यह भी पढ़ें: रात में लगी भीषण आग से कई दुकानदारों के गोदाम जले

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस