देहरादून, जेएनएन। एक कंपनी का डिस्ट्रीब्यूटरशिप देने के नाम पर कारोबारी से साढ़े चौदह लाख रुपये की साइबर ठगी कर ली गई। मामले में शिकायत के बाद साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन ने अज्ञात के खिलाफ के मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। साइबर पुलिस उन मोबाइल नंबरों और बैंक खातों की डिटेल निकलवा रही है, जिनसे कारोबारी को फोन आए थे और रकम ट्रांसफर की गई थी।

देवेश पंत निवासी ग्राम देवराड़ा थराली चमोली ने साइबर थाने को दी तहरीर में बताया कि सितंबर महीने में वह हिंदुस्‍तान यूनीलिवर की डिस्ट्रीब्यूटरशिप लेने के लिए गूगल सर्च किया। इस दौरान कंपनी की वेबसाइट पर आनलाइन आवेदन भी कर दिया। चार अक्टूबर को उनके पास विनय नाम के एक युवक का फोन आया। उसने पंजीकरण की प्रक्रिया पूरी कराने के लिए मुंबई के एक बैंक अकाउंट में 49 हजार 800 सौ जमा करने को कहा। इसके बाद सिक्योरिटी के नाम पर सवा दो लाख रुपये जमा कराए गए। 

यह भी पढ़ें: कमेटी के तीन रुपये लाख लेकर संचालक फरार, पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा Dehradun News

इस रकम के जमा करने के बाद राहुल नाम के युवक का फोन आया। उसने खुद को कंपनी का अधिकारी बताया। उसने प्रोक्डट के नाम पर 9.32 लाख रुपये जमा कराए गए। इस रकम के जमा करने के बाद दोनों के मोबाइल बंद हो गए। तब उन्हें इस बात का अहसास हुआ कि उनके साथ ठगी कर ली गई है। शिकायतकर्ता की ओर से साइबर थाने को वे मोबाइल नंबर और बैंक अकाउंट उपलब्ध कराए गए हैं, जिनसे कारोबारी को फोन आया था और जिन खातों में रकम ट्रांसफर की गई है।

यह भी पढ़ें: आरटीओ देहरादून नाम की वेबसाइट से ठगी में मुकदमा Dehradun News

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस