देहरादून, जेएनएन। चुक्खूवाला स्थित इंद्रा कॉलोनी में मकान ढहने के कारण गर्भवती महिला सहित चार की मौत हुई और दो लोग घायल हो गए थे। इस मामले में शहर कोतवाली पुलिस ने पीडि़त वीरेंद्र कुमार तहरीर पर प्लॉटिंग करने वाले तीन लोगों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया है।

शहर कोतवाल शिशुपाल नेगी के अनुसार, वीरेंद्र सिंह हाल निवासी इंद्रा कॉलोनी मूल निवासी गांव गुना, त्यूणी ने बताया कि वह पंकज मैसी के मकान पर किराये पर रहते थे। मकान के दूसरे हिस्से में समीर चौहान का परिवार रहता था। मकान के पीछे प्लाटिंग करने वालों ने एक बड़ी दीवार बनाई थी, जिसमें मानकों की अनदेखी की गई। जिससे आसपास स्थित मकानों को खतरा बना हुआ था। खतरे के संबंध में पूर्व में भी कई बार प्लॉटिंग करने वालों को अवगत करा दिया गया था, लेकिन शिकायतों की अनदेखी की गई। जबकि प्लाटिंग करने वालों को यह जानकारी थी कि यह दीवार कभी भी गिर सकती है और आसपास के मकानों को क्षति पहुंच सकती है। 

15 जुलाई देर रात अचानक प्लॉटिंग के साथ लगी दीवार मकान के ऊपर गिर गई, जिससे मकान ढह गया। मकान में रह रहे वीरेंद्र कुमार की पत्नी विमला देवी, बेटी सृष्टि तथा उसके रिश्तेदार समीर की गर्भवती पत्नी किरन व बहन प्रमिला की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि वीरेंद्र कुमार का बेटा कृष व समीर गंभीर रूप से घायल हो गए। कोतवाल ने बताया कि वीरेंद्र कुमार की तहरीर पर प्लॉटिंग करने वाले बंटी अरोड़ा, पवन चौधरी और विनोद माहेश्वरी के खिलाफ मुकदमा किया गया है।

यह भी पढ़ें: देहरादून में तेज बारिश से मकान के ऊपर गिरा पुश्ता, मलबे में दबने से गभर्वती समेत चार की मौत

मकान मालिक ने भी थाने में दी तहरीर

मकान मालिक पंकज मैसी ने भी प्लॉटिंग करने वालों के खिलाफ थाने में तहरीर दी है। पंकज ने बताया कि प्लॉटिंग करने वालों ने मकान के पीछे एक बड़ी दीवार खड़ी कर दी थी, जिससे मकान को खतरा था। बुधवार देर रात दीवार मकान के ऊपर गिर गई, जिससे दो परिवारों को जानमाल का नुकसान हुआ है। इसलिए आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई कर पीडि़तों को न्याय दिलाया जाए। 

यह भी पढ़ें: मकान मालिक को हो गया था खतरे का अहसास, किरायेदारों को कहा था घर खाली करने को

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस