देहरादून, जेएनएन। जौनसार में 26 नवंबर से शुरू हो रही पांच दिवसीय बूढ़ी दीपावली के लिए गर्म कपड़ों व अन्य सामान की खरीदारी करने लोकल बाजारों में भीड़ उमड़ चुकी है। बूढ़ी दीपावली पर कमाई को साहिया बाजार में बाहरी क्षेत्र से आकर व्यापारियों ने गर्म कपड़ों की फेरी लगायी है। लोकल बाजारों में भी भीड़ उमडऩे से व्यापारियों के चेहरे खिल उठे हैं। पांच दिवसीय बूढ़ी दीपावली के लिए नौकरीपेशा परिवारों का पैतृक गांव लौटने का क्रम शुरू हो गया है। 

गर्म कपड़े खरीदने को लोगों के उमड़ने पर फेरीवालों की खूब बिक्री हो रही है। किफायती रेट पर नए डिजाइन के जैकेट, पैंट व अन्य कपड़े मिलने के कारण लोगों ने दुकानों की बजाय फेरीवालों को तरजीह दी। चकराता, साहिया, क्वांसी, लाखामंडल आदि क्षेत्रों के लोकल बाजारों में खरीदारी को लोगों के आने पर व्यापारियों के चेहरे खिले रहे। 

नौकरीपेशा लोगों के पर्व मनाने को पैतृक गांव लौटने पर अधिकांश रूट पर ओवरलोड वाहन दिखाई दिए। रविवार को अधिकांश ज्यादातर लोगों ने सर्दी से बचने को परिवार के सभी सदस्यों के लिए गर्म कपड़े लिए।

200 गांवों के पंचायती आंगन में दिखेगी लोक संस्कृति की छटा 26 नवंबर से जौनसार के करीब 200 गांवों में पांच दिवसीय बूढ़ी दीपावली के पहले दिन सुबह हर गांव में लोग अपने ईष्ट देवों के मंदिर में जाकर दर्शन करेंगे। पंचायती आंगनों में लोक संस्कृति की अनूठी छटा बिखरेगी।

यह भी पढ़ें: बूढ़ी दीपावली मनाने संबित पात्रा पहुंचे उत्‍तराखंड, पलायन रोकने को लेकर कही ये बात

कालसी ब्लॉक के साहिया, कोठा तारली, पजिटीलानी, उत्पाल्टा, बोहा, सलगा, उभरेऊ, मसराड़, टुंगरा, ठाणा, रिखाड़, कोरुवा, कोटा, डिमऊ, लेल्टा, कोटी, सिमोग, मंगरौली, हयो टगरी, शिबऊ, कोफ्टी के अलावा चकराता ब्लॉक के लोहारी, जाड़ी, भंगार समेत करीब 200 गांवों में बूढ़ी दीपावली का जश्न मनाया जाएगा। पर्व को देखते हुए बाजार में जमकर खरीददारी को ग्रामीण उमड़ रहे हैं। बूढ़ी दीपावली मनाने के लिए विवाहिताएं भी अपने मायके पहुंचने लगी हैं।

यह भी पढ़ें: उत्‍तराखंड में खास अंदाज में मनाया जाता है दीपावली का पर्व

 

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस