देहरादून, राज्य ब्यूरो। भाजपा के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा 15 नवंबर को उत्तराखंड दौरे पर आ रहे हैं। इस दिन वह देहरादून में एक के बाद एक पांच बैठकें लेंगे। राज्य सरकार के ढाई साल के कार्यकाल को भी वह कसौटी पर परखेंगे। इसके अलावा पार्टी के सांगठनिक चुनाव, 2022 में होने वाले राज्य विधानसभा के चुनाव की तैयारियों के संबंध में मंथन करेंगे। साथ ही प्रबुद्धजनों से फीडबैक भी ले सकते हैं। उधर, कार्यकारी अध्यक्ष नड्डा के दौरे को देखते हुए भाजपा नेतृत्व तैयारियों में जुट गया है। सूत्रों की मानें तो पार्टी के विभिन्न कार्यक्रमों की प्रगति समेत अन्य बिंदुओं को लेकर ब्योरा एकत्र किया जा रहा है, ताकि नड्डा के सवालों का तुरंत जवाब दिया जा सके।

भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष का जिम्मा संभालने के बाद नड्डा का यह पहला उत्तराखंड दौरा है। पार्टी के इन दिनों चल रहे सांगठनिक चुनाव, राज्य सरकार के ढाई साल के कार्यकाल, 2022 के विस चुनाव की तैयारियों के दृष्टिगत उनके इस दौरे को बेहद अहम माना जा रहा है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक वह राज्य सरकार के ढाई साल के कार्यकाल के बारे में पार्टीजनों से फीडबैक लेंगे। यही नहीं, प्रबुद्धजनों से भी वह इस सिलसिले में मुलाकात कर सकते हैं। फीडबैक के आधार पर 2022 के विस चुनाव की रणनीति को अभी से धरातल पर उतारने की दिशा में कदम उठाए जाएंगे।

नड्डा के 15 नवंबर के देहरादून दौरे को देखते हुए भाजपा नेतृत्व सक्रिय हो गया है। इस कड़ी में रविवार को मुख्यमंत्री आवास में प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट की अध्यक्षता और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की मौजूदगी में हुई बैठक में मंथन किया गया। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रमुख डॉ. देवेंद्र भसीन के मुताबिक बैठक में तय हुआ कि नड्डा के देहरादून आगमन पर जौलीग्रांट हवाई अड्डे से लेकर प्रदेश भाजपा कार्यालय पहुंचने तक उनका जगह-जगह स्वागत किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: मंडाण में नृत्य कर कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत फिर आए सुर्खियों में

उन्होंने बताया कि दून पहुंचने पर कार्यकारी अध्यक्ष नड््डा पार्टी पदाधिकारियों, सांसदों, विधायकों और कोर गु्रप की बैठकों समेत अन्य कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे। उनके दौरे के मद्देनजर बैठक में पार्टी पदाधिकारियों और जनप्रतिनिधियों को जिम्मेदारियां भी सौंपी गईं। बैठक में विधायक हरबंस कपूर, विनोद चमोली, खजान दास, सहदेव पुंडीर, मुन्ना सिंह चौहान व उमेश शर्मा काऊ, महापौर सुनील उनियाल गामा व अनीता ममगाईं, जिला पंचायत अध्यक्ष मधु चौहान, जिलाध्यक्ष शमशेर सिंह पुंडीर, महानगर अध्यक्ष विनय गोयल, सोशल मीडिया प्रदेश सह संयोजक शेखर वर्मा के अलावा पंचायत प्रतिनिधि, विभिन्न मोर्चों व प्रकोष्ठों के जिला एवं महानगर संयोजक मौजूद थे।

यह भी पढ़ें: 2019 में मंदिर निर्माण की भविष्यवाणी सत्य हुई: साक्षी महाराज

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप