देहरादून, राज्य ब्यूरो। कैबिनेट मंत्री डॉ.हरक सिंह रावत इन दिनों फिर चर्चा के केंद्र में हैं। इस मर्तबा वजह सियासी दांवपेच नहीं, बल्कि सोशल मीडिया में वायरल उनका वीडियो है। इसमें वह धार्मिक आयोजन 'मंडाण' के दौरान नाचते नजर आ रहे हैं। डॉ.रावत इगास पर्व मनाने परिवार सहित अपने पैतृक गांव गैहड़ गए थे। इसी दरम्यान मंडाण का आयोजन किया गया था।

दीपावली के 11 बाद मनाए जाने वाले इगास बग्वाल पर्व को पैतृक गांव में मनाने के लिए डॉ.रावत वहां परिवार के साथ पहुंचे थे। आठ नवंबर को डॉ.रावत ने स्वजनों और ग्रामीणों के साथ पारंपरिक अंदाज में यह पर्व मनाया। इसी दिन शाम को मंडाण का आयोजन भी हुआ। इसका वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। वीडियो में मंडाण के दौरान डॉ. रावत ढोल-दमाऊ की थाप पर जमकर नाचते नजर आ रहे हैं। सोशल मीडिया में इस वीडियो के मद्देनजर ये टिप्पणी भी की जा रही है कि डॉ.रावत देवता के वश में आकर नृत्य कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: विधायक मनोज रावत पर हुए जानलेवा हमले की कांग्रेस ने की कड़ी निंदा

हालांकि, कैबिनेट मंत्री डॉ.रावत के विशेष कार्याधिकारी नरेंद्र सेमवाल ने देवता के वश में आकर डॉ.रावत के नृत्य करने की बात से इनकार किया। उन्होंने बताया कि डॉ.रावत ने अपने गांव में इगास मनाकर परंपराओं को सहेजे रखने और जड़ों से जुड़े रहने का संदेश दिया। इस दौरान सियासी आपाधापी से दूर रहे डॉ.रावत पुराने दिनों को याद कर ढोल-दमाऊ व मशकबीन की धुन पर नाचे भी।

यह भी पढ़ें: भाजपा असंवेदनशील तो कांग्रेस नौटंकीबाज: काशी सिंह ऐरी

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप