देहरादून, राज्य ब्यूरो। प्रदेश में इस वित्तीय वर्ष के शेष बचे तीन महीनों में सरकार का बड़ा फोकस सड़कों के निर्माण और मरम्मत पर रहने जा रहा है। अनुपूरक बजट में लोक निर्माण कार्यों के लिए सरकार ने 234.90 करोड़ की भारी-भरकम राशि का प्रावधान किया है। इसके साथ ही महकमे पर एक चौथाई महीने में बड़ी धनराशि खर्च करने की चुनौती बढ़ गई है। वैसे भी प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में नौ महीने बीतने के बाद भी 50 फीसद धन खर्च नहीं हो सका है। 

प्रदेश सरकार ने चालू वित्तीय वर्ष के पहले अनुपूरक बजट में सड़कों के निर्माण के लिए ही सबसे ज्यादा बजट रखा है। हालांकि सड़कों के विस्तार, मरम्मत को लेकर सरकार सालाना बजट में ही उदारता बरतने के संकेत दे चुकी है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना आपातकालीन निधि मद में 10 करोड़, ग्रामीण सड़कें-ड्रेनेज मद में 10 करोड़, राज्य सेक्टर से सड़क निर्माण को 150 करोड़, केंद्रीय सड़क निधि से कार्य के लिए 30 करोड़ अनुपूरक बजट में रखा गया है। 

सड़कों के बाद शेष तिमाही में ज्यादा जोर जलापूर्ति, आवास और शहरी सुविधाओं के विकास पर रहेगा। इन क्षेत्रों के लिए कुल 372.85 करोड़ बजट राशि का प्रावधान अनुपूरक में है। इसी तरह अनुपूरक बजट में तीसरा सबसे बड़ा जोर शिक्षा, खेल और युवा कल्याण के साथ ही संस्कृति पर रहेगा। इन मदों पर 288 करोड़ राशि खर्च के लिए रखी गई है। अगले वर्ष बाढ़ से सुरक्षा कार्य इस बार समय रहते पूरे हो सकेंगे। सिंचाई व बाढ़ योजनाओं के लिए 219.86 करोड़ का बजट रखा गया है। 

यह भी पढ़ें: आइएमए के तीन परिसरों के बीच बनेंगे दो अंडरपास, रक्षा मंत्रालय ने दी मंजूरी

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस