देहरादून, राज्य ब्यूरो। प्रदेश में बाहर से आने वाले व्यक्तियों के लिए रैपिड एंटीजन टेस्ट की संख्या बढ़ाई जाएगी। हवाई जहाज से आने वाले सभी व्यक्तियों का भी यह टेस्ट होगा। इसके लिए हाई कोविड सिटी के रूप में चिह्नित 33 शहरों से आने वालों का अनिवार्य रूप से टेस्ट कराया जाएगा। मुख्य सचिव ने कहा कि अब रात्रि कर्फ्यू की व्यवस्था समाप्त कर दी गई है।

बुधवार को पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत करते हुए मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर अब हाई कोविड शहरों और हवाई सेवाओं से आने वालों का अनिवार्य रूप से एंटीजन टेस्ट कराया जाएगा। इनमें पर्यटक भी शामिल होंगे। उन्होंने यह भी बताया कि प्रदेश से बाहर जाने वाला कोई व्यक्ति यदि पांच दिनों के भीतर वापस आ जाता है, तो उसे क्वारंटाइन नहीं किया जाएगा, लेकिन यदि यह अवधि पांच दिनों से अधिक रहती है तो उसे होम क्वारंटाइन में रहना होगा। उन्होंने बताया कि प्रदेश में टेस्टिंग राष्ट्रीय औसत के समान ही चल रही है। अभी रिकवरी रेट कुछ कम हुआ है लेकिन आने वाले दिनों में स्थिति बेहतर हो जाएगी।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Coronavirus News Update: उत्तराखंड में आठ हजार के पार कोरोना संक्रमितों की संख्या, 208 नए मामले आए सामने

एक कंटेनमेंट जोन बना, एक हुआ कम

दून में बुधवार को एक कंटेनमेंट जोन समाप्त किया गया और दूसरी तरफ एक नया जोन भी अस्तित्व में आ गया। कंटेनमेंट जोन की कुल संख्या मंगलवार की तरह आठ ही है। डीएम के आदेश के मुताबिक, दीपनगर क्षेत्र में संक्रमण के नए मामले सामने आने के बाद इसके एक हिस्से को कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। अग्रिम आदेश तक इस क्षेत्र के लोग जोन से बाहर नहीं निकल सकेंगे और जरूरत की वस्तुओं की आपूर्ति प्रशासन कराएगा। वहीं, ऋषिकेश क्षेत्र के प्रतीतनगर में बनाया गया कंटेनमेंट जोन समाप्त कर दिया गया। यहां संक्रमण के नए मामले सामने न आने के बाद इसकी पाबंदी समाप्त कर दी गई है। 

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Coronavirus News Update: उत्तराखंड में कोरोना के 207 नए मामले, 7800 हुई संक्रमितों की संख्या

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस