ऋषिकेश। उत्तराखंड पर्यटन विभाग, परमार्थ निकेतन और गढ़वाल मंडल विकास निगम के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित 28वां अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव परमार्थ निकेतन गंगा तट पर आरम्भ हो गया। सात मार्च तक चलने वाले इस अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव में 70 देशों के 1100 साधक शिरकत कर रहे हैं।
योग महोत्सव का उद्घाटन सूबे के मुख्यमंत्री हरीश रावत, पर्यटन मंत्री दिनेश धनै व परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानंद सरस्वती ने सयुंक्त रूप से दीप प्रज्ज्वल्लित कर किया।
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि अर्द्धकुंभ के साथ यह योग महोत्सव भी एक ऐसा आयोजन है जो गंगा और हिमालय की ख्याति को पूरी दुनिया में पहुंचा रहा है।

पढ़ें-केदारनाथ धाम में बदला मौसम, केदारनाथ में बर्फबारी
उन्होंने कहा कि सरकार वार्षिक योग कैलेंडर तैयार करेगी। इसमें उत्तराखंड में अलग-अलग जगहों पर होने वाले ऐसे आयोजनों को पहचान दिलाई जाएगी।
उन्होंने कहा की योग की नई विधाओं पर काम कर रहे योगाचार्यों को सरकार प्रोत्साहित करेगी। सरकर हर साल योग महाकुंभ आयोजित करेगी। इसके लिए अडवांस कोर्स भी चलाए जाएंगे।
उन्होंने कहा कि एडवांस क्लास के लिए सरकार फंडिंग करेगी और प्रदेश के हजारों योग प्रशिक्षितों को इससे जोड़ा जाएगा। इस अवसर पर स्वामी चिदानंद सरस्वती ने कहा कि योग महोत्सव ने पूरी दुनिया को एक मंच पर जोड़ने का काम किया है।
उन्होंने कहा कि सिर्फ ऋषिकेश में ही नहीं, बल्कि प्रदेश के अन्य स्थानों पर भी योग महोत्सव होने चाहिए। पर्यटन मंत्री दिनेश धनै ने कहा कि योग महोत्सव को और वृहद् स्तर पर करने की कोशिश की जाएगी।
पढ़ें- सीएम का विरोध करने जा रहे भाजपा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रोका

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस