जागरण संवाददाता, चम्पावत : ऑल इंडिया काली कुमाऊं फुटबाल प्रतियोगिता के फाइनल मुकाबले में बनारस की टीम ने देहरादून को एक तरफा मुकाबले में पांच गोल से करारी शिकस्त देते हुए चैंपियन ट्रॉफी अपने नाम की। बनारस की ओर से पांच गोल दागने वाले विक्रम को सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुना गया। विजेता बनारस की टीम एक लाख का चेक दिया गया।

काली कुमाऊं का फाइनल मुकाबला देहरादून व बनारस के बीच खेला जाना था। मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे ऑल इंडिया फुटबाल एसोसिएशन के जनरल सेकेट्री कुशल दास, एयर कमाडोर नावेश बहरी, आयोजक नरेंद्र लडवाल ने खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त कर मैच का शुभारंभ किया। मैच के पहले हॉफ में देहरादून की ओर विक्रम सिंह ने छठे मिनट में पहला गोल दागकर बढ़त बना ली। लेकिन यह बढ़त ज्यादा देर बरकरार नही रही। बनारस से वापसी करते हुए तीसरे, 11 व 18 वें मिनट में विक्रम ने एक के बाद कर एक गोल कर टीम को 3-1 की बढ़त पर ला दिया। पहले हॉफ में ही कमल ने 24 वें मिनट व 31 वें मिनट में विक्रम ने फिर गोल कर टीम को 5-1 की बढ़त दिला दी। मैच के दूसरे हॉफ के अंत में 77 वें मिनट में विक्रम ने फिर एक गोल कर टीम को 6-1 से बढ़त दिलाते हुए बनारस की टीम को मैच जीता दिया। मैच से पूर्व विद्या मंदिर के छात्रों ने घोष के जरिये अतिथियों की अगवानी की और लोक गायक राजू अटवाल ने स्वागत व लोकगीत प्रस्तुत किया। उत्तराखंड फुटबाल संघ के उपाध्यक्ष प्रहलाद मेहता ने कुशल दास को ज्ञापन सौंपकर उत्तराखंड में फुटबाल को विशेष प्रोत्साहन देने की माग की। मैच में बनारस की टीम विजयी रही। अतिथियों ने विजयी बनारस की टीम को एक लाख व उपविजेता देहरादून की टीम को पांच हजार की धनराशि के साथ ट्रॉफी प्रदान दी। वहीं बनारस के विक्रम को सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी के रूप में पांच हजार का इनाम दिया गया। मैच के निर्णायक रेफरी, लाइन मैन व फोर्थ ऑफिशियल बैंच पर संदीप पोखरियाल, मनोज, कुंदन व वीरेंद्र बिष्ट, रहे। आखों देखा हाल अशोक वर्मा, रघुराज देऊपा ने सुनाया। इस मौके पर संजय जोशी, दिनेश जोशी, एडीएम टीएस मर्तोलिया, एडीएम एन एस गब्र्याल, महेश ढेक, शकर पाडेय, पूर्व पालिकाध्यक्ष प्रकाश तिवारी, यशवंत बोहरा, रवींद्र तड़ागी, विकास साह, मयूख चौधरी, रोहित बिष्ट, दीपक लारा आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप