सीतापुर, जेएनएन। हिंदू महासभा के उत्तर प्रदेश के पूर्व अध्यक्ष व हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी (50) की शुक्रवार को नृशंस हत्या कर दी गई। अंतिम संस्कार के लिए कमलेश तिवारी का पार्थिव शरीर बीती देर रात उनके पैतृक आवास सीतापुर स्थित महमूदाबाद कस्बे लाया गया। सुरक्षा की दृष्टि से लखनऊ के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा खुद मृतक कमलेश के परिवारीजनों को सीतापुर सीमा तक पहुंचने आए। 

भारी सुरक्षा बल के साथ शव महमूदाबाद आवास पर रखा गया है। देर रात से ही लोगों की भीड़ जमा रही। वहीं, परिवार जन ने मुख्यमंत्री को बुलाने की मांग पर को लेकर अंतिम संस्कार करने से इन्कार कर दिया है। परिवार को समझाने के लिए शनिवार सुबह सीतापुर डीएम अखिलेश तिवारी व एसपी एलआर कुमार आवास पर पहुंचे, लेकिन उनकी कोशिश भी विफल रही। वहीं, कुर्सी से भाजपा विधायक साकेंद्र वर्मा परिवार से मिलने पहुंचे। स्थिति का हवाला देते हुए डीएम ने उन्हें बैरंग लौटा दिया। 

मुख्यमंत्री को बुलाने की मांग पर अड़े 

कमलेश तिवारी का घर जिले स्थित महमूदाबाद कस्बे में है। इस वजह से अंत्येष्टि के लिए शव महमूदाबाद ले जाया गया। जिसके चलते महमूदाबाद कस्बे में सुरक्षा चाक चौबंद कर दी गई है। वहीं, घर पहुंचने के बाद कमलेश के परिवार जन ने शव को जबरदस्ती महमूदाबाद भेजने का आरोप लगाया। परिवार जन अंतिम संस्कार करने से भी इन्कार कर रहे हैं। वे मुख्यमंत्री को बुलाने की मांग पर अड़े हैं। यही नहीं, इस घटना में सीतापुर के महमूदाबाद के निवासी भाजपा नेता शिव कुमार गुप्ता पर भी हत्या का आरोप परिवार जन ने लगाया है। इसके पीछे जमीनी रंजिश बताई गई है। 

यह भी पढ़ें: लखनऊ में हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की दिनदहाड़े नृशंस हत्या, गोली मारने के बाद गला रेता

हत्या कायराना हरकत, 15 दिनों में प्रदेश में बढ़ीं हत्याएं : सपा विधायक नरेंद्र सिंह वर्मा 

वहीं, मामले में संवेदना व्यक्त करने महमूदाबाद क्षेत्र से सपा विधायक नरेंद्र सिंह वर्मा भी मृतक कमलेश के घर पहुंचे। विधायक ने कहा कि जो लोग लोकतंत्र में विश्वास नहीं रखते यह घटना उनकी हमलावरों की कायराना हरकत है। उन्होंने कहा कि अपराधियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने औरैया, झांसी, बदायूं और प्रयागराज में हुई घटनाओं का हवाला देकर पिछले 15 दिन में प्रदेश में हत्याओं का ग्राफ बढऩे की बात भी कही। उन्होंने कहा कि सरकार को परिवार की जायज मांगों को मानना चाहिए।

यह भी पढ़ें: सरकारों के लिए हमेशा चुनौती बने रहे कमलेश तिवारी, एक वर्ष से अधिक जेल में रहे

NIA से कराएं जांच, राजकीय सम्मान से हो अंतिम संस्कार

अखिल भारतीय हिंदू महा सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष नंद किशोर मिश्र भी महमूदाबाद पहुंच गए हैं। उन्होंने प्रदेश सरकार से मांग की है कि हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाए। इसके अलावा पूरे घटनाक्रम की जांच एनआइए से कराई जाए। उन्होंने यह भी दोहराया कि जब तक मुख्यमंत्री नहीं आते तब तक कमलेश तिवारी का अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा।

स्कूल बंद, तनाव की स्थिति

उधर, घटना को लेकर महमूदाबाद में तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए अभिभावक चिंतित हैं। बच्चों को विद्यालय भेजने को लेकर अभिभावक सशंकित हैं। हालांकि, अब तक प्रशासन द्वारा अवकाश घोषित नहीं किया गया है। एसडीएम महमूदाबाद गिरीश झा का कहना है कि अभी तक इस बाबत कोई आदेश नहीं मिला है। वैसे स्कूल प्रबंधन अपने विवेक के अनुरूप कोई भी निर्णय ले सकते हैं।

यह भी पढ़ें: कमलेश हत्‍याकांड : आतंकी संगठन ISIS से जुड़े हैं तार, गुजरात ATS ने पहले ही जताई थी आशंका

 

परिवार जन को समझाने में पहुंच रहे अधिकारी

  • 3:15 AM- एसडीएम महमूदाबाद गिरीश झा व सीओ महमूदाबाद पहुंचे।
  • 7:55 AM- एडीएम विनय कुमार पाठक और एसडीएम बिसवां घर पहुंचे।
  • 7:35 AM- महमूदाबाद विधायक नरेंद्र सिंह वर्मा घर पहुंच कर संवेदना व्यक्त की।
  • 8:10 AM-डीएम अखिलेश तिवारी और एसपी एलआर कुमार घर पहुंचे।

यह भी पढ़ें: हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड: रोडवेज बस में तोडफ़ोड़, सीसी कैमरे में कैद आरोपित-DM ने लगाई रासुका

प्रशासन अलर्ट, वाहनों का प्रवेश रोका 

इस घटना के बाद तनाव को देखते हुए प्रशासन पूरी सतर्कता बरत रहा है। रात से ही एसडीएम महमूदाबाद और सीओ महमूदाबाद मौके पर मौजूद हैं। कमलेश तिवारी के घर की ओर जाने वाली सड़क पर वाहनों का प्रवेश रोक दिया गया। इस रोड पर लोग पैदल ही कमलेश तिवारी के आवास तक जा पाएंगे। वहीं, सीओ सिधौली अंकित कुमार ने बताया कि जिले की ही नहीं बल्कि लखीमपुर के पांच थानों की फोर्स महमूदाबाद बुलाई गई है। एक ट्रक पीएसी, फायर ब्रिगेड और एम्बुलेंस रामकुंड चौराहा पर मौजूद है। 

आपत्तिजनक टिप्पणी से आक्रोश, जुटी भीड़

महमूदाबाद में कमलेश तिवारी हत्याकांड के बाद हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। सोशल मीडिया पर किसी व्यक्ति की आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद काफी लोग महमूदाबाद में जुट गए हैं। पुलिस ने भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सख्त तेवर अपनाए हुए हैं। इस दौरान लोगों ने प्रदर्शन कर दुकानें बंद करा दी। उधर, हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की लखनऊ में हुई हत्या के विरोध में तमाम समाजिक संगठन आक्रोशित हैं। शनिवार को विभिन्न संगठनों ने एक साथ जिला मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान कमलेश तिवारी के हत्यारों को फांसी देने की मांग की गई।

 

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस