सीतापुर, जागरण संवाददाता। एंटी करप्शन टीम ने कृषि विभाग के फर्टिलाइजर पटल के लिपिक दिलीप कुमार को आठ हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ दबोचा। पूछताछ के लिए आरोपित को नगर कोतवाली लाया गया और शिकायतकर्ता को भी बुलाया गया। जानकारी हुई तो अन्य विभागीय कर्मचारी भी शहर कोतवाली पहुंचे।

एंटी करप्शन टीम करीब दो घंटे तक आरोपित से पूछताछ की। गोंदलामऊ ब्लॉक के करनपुर में रहने वाले नीरज अवस्थी अपने भाई शिवांशु अवस्थी के नाम से खाद-बीज विक्रय केंद्र का लाइसेंस बनवा रहे थे। सभी जरूरी कागज तैयार कर वह जिला कृषि अधिकारी कार्यालय में तैनात फर्टिलाइजर पटल के लिपिक दिलीप सिंह के पास पहुंचे।

13,500 रुपये मांगी थी रिश्वत

शिकायतकर्ता के अनुसार दिलीप ने 13,500 रुपयों की मांग की। उसने 5,500 रुपये लिपिक को दिए। लेकिन, वह और रकम की मांग कर रहा था। परेशान होकर नीरज ने एंटी करप्शन टीम से संपर्क किया। गुरुवार की दोपहर एंटी करप्शन टीम ने लिपिक दिलीप कुमार को बीज भंडार कार्यालय से आठ हजार रुपये रिश्वत लेते पकड़ लिया। कर्मचारी के पकड़े जाने से कार्यालय में अफरा-तफरी मच गई।

रंगे हाथों पकड़ा गया लिपिक

कोतवाली में जुटे खुदरा कृषि व्यापारी संगठन के पदाधिकारी : फर्टिलाइजर लिपिक के गिरफ्तार होने की खबर पर खुदरा कृषि व्यापारी वेलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारी भी कोतवाली पहुंचे। नीरज अवस्थी ने संगठन में भी शिकायत की थी। कृषि विभाग के कई कर्मचारी भी कोतवाली पहुंचे। एंटी करप्शन टीम आरोपित से पूछताछ में जुटी रही।

यह भी पढ़ें- Sitapur: जिस अस्पताल को विधायक ने लिया है गोद, उसी के वार्ड में भरा बरसाती पानी, प्रसूताएं जमीन पर बैठी मिलीं

Edited By: Umesh Kumar