Move to Jagran APP

IPS अफसर अविनाश पांडेय की कार्रवाई से पुलिस विभाग में मची खलबली; दारोगा सहित सात पुलिसकर्मियों कर दिए सस्पेंड

Pilibhit News In Hindi पीलीभीत में पुलिस अधीक्षक अविनाश पांडेय ने कार्य क्षेत्र में लापरवाही बरतने पर सख्त कार्रवाई की है। उन्होंने एक दारोगा और छह सिपाहियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। इसका आदेश जारी किया है। सभी पुलिसकर्मी पुलिस लाइन में तैनात थे और अपने कार्यक्षेत्र में अनुपस्थित मिले थे। जिसके बाद एसपी ने कार्रवाई की है।

By Jagran News Edited By: Abhishek Saxena Published: Mon, 10 Jun 2024 01:28 PM (IST)Updated: Mon, 10 Jun 2024 01:45 PM (IST)
Pilibhit News: एसपी ने दारोगा सहित सात पुलिसकर्मियों को किया निलंबित।

जागरण संवाददाता, पीलीभीत। लोकसभा चुनाव की आदर्श चुनाव आचार संहिता समाप्त होते ही पुलिस अधीक्षक अविनाश पांडेय ने कड़ा रुख अपनाना शुरू कर दिया है। पुलिस अधीक्षक ने एक उप निरीक्षक, तीन मुख्य आरक्षी एवं तीन आरक्षियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। यह कार्रवाई अपने कर्तव्य स्थल पर अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित रहने पर की गई है।

सोमवार को पुलिस अधीक्षक की ओर से जारी आदेश में कहा गया कि पुलिस लाइन में तैनात उप निरीक्षक दिनेश कुमार, मुख्य आरक्षी शाहनवाज अख्तर, जय प्रकाश व रजनीश तथा आरक्षी शुभम कुमार, विकास कुमार एवं विकास कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है।

ये सभी पुलिस लाइन में तैनात थे। अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित हो जाने के फलस्वरूप यह कार्रवाई की गई। कुछ दिन पहले ही पुलिस अधीक्षक अविनाश पांडेय ने घुंघचाई थाना में तैनात मुंशी से विवाद करने के मामले में दो सिपाहियों को निलंबित किया था।

ये भी पढ़ेंः UP Politics: जानिए कौन हैं बीएल वर्मा जो यूपी की ये हॉट सीट गंवाने के बाद भी मोदी सरकार में लगातार दूसरी बार मंत्री बने

ये भी पढ़ेंः Umesh Pal Murder Case: अब बढ़ गईं सद्दाम की मुश्किलें, अतीक गैंग के बाद उसके भाई अशरफ के साले की संपत्ति हुई चिह्नित

तीन पुलिस क्षेत्राधिकारियों को किया इधर से उधर

पुलिस अधीक्षक अविनाश पांडेय ने सीओ सदर डा. प्रतीक दाहिया को बीसलपुर का क्षेत्राधिकारी बनाया है। बीसलपुर के क्षेत्राधिकारी विशाल चौधरी को सीओ अपराध, कार्यालय, यातायात के पद पर भेजा गया है। क्षेत्राधिकारी लाइन, कार्यालय अपराध व यातायात विधिभूषण मौर्य को क्षेत्राधिकारी सदर के पद पर भेजा गया है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.