नोएडा  [कुंदन तिवारी]। उद्यमियों के लिए नोएडा शहर में नए विकसित किए जा रहे औद्योगिक फेज-दो के सेक्टर के भूखंडों की दरों में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है, जबकि औद्योगिक फेज-वन व फेज-थ्री के सेक्टरों में निवेश करना महंगा हो गया है। प्राधिकरण की 197वीं बोर्ड बैठक में गठित समिति ने इस प्रस्ताव को बोर्ड के समक्ष प्रस्तुत किया। वहीं, इस प्रस्तावों पर मंजूरी भी मिल गई है। प्रस्तावित दरें बाजार दर से काफी कम हैं।

समिति ने फेज-वन व फेज-दो के औद्योगिक भूखंडों की सेक्टर दर एवं अगस्त माह में प्रस्तावित सर्किल दर का तुलनात्मक अध्ययन किया। यह अध्ययन 0 से 4000 वर्गमीटर, 4001 से 20 हजार वर्ग मीटर, 20001 से 60 हजार व 60 हजार एक से अधिक वर्ग मीटर भूखंडों के लिए किया गया। अध्ययन के आधार पर फेज-वन औद्योगिक सेक्टर की प्रस्तावित दरों में 7.1 फीसद की बढोतरी की गई।

प्राधिकरण अधिकारियों ने बताया कि फेज-दो में नए औद्योगिक सेक्टर विकसित किए जा रहे हैं। इसका उद्देश्य इन सेक्टरों में निवेश को बढ़ावा देना है। निवेशकों को आकर्षित करने के लिए यहां भूखंडों की दरों में बदलाव नहीं किया गया वह यथावत है। इसी आधार पर फेज-थ्री की बाजार दरों एवं सेक्टर दरों का तुलनात्मक अध्ययन किया गया। इसके अनुसार फेज-थ्री के सेक्टरों का बाजार मूल्य प्राधिकरण की वर्तमान दर से 4 से 5 गुना अधिक है। इसक्रम में समिति ने यह निर्णय लिया कि फेज-थ्री के सेक्टरों में बाजार दर के आधार पर वर्तमान दर 15 फीसद की बढ़ोतरी की गई। यानि उद्यामियों के लिए अब फेज-वन व फेज-थ्री में औद्योगिक भूखंड खरीदने के लिए ज्यादा पैसे खर्च करना होंगे। बाहर से आने वाले निवेशकों के लिए फेज-दो में नए विकसित किए जा रहे सेक्टरों में बेहतर मौका मिलेगा।

फेज वन

0-4000 वर्ग मीटर 4001 से 20,000 वर्ग मीटर 20,001 से 60,000 वर्ग मीटर 60,000 व अधिक

सर्किल-सेक्टर-प्रस्तावित दर सर्किल-सेक्टर-प्रस्तावित दर सर्किल-सेक्टर-प्रस्तावित दर सर्किल-सेक्टर-प्रस्तावित दर

40000-30610-32785 39000-28260-30270 7,000-25910-27,750 37000-23560-25,235

(नोट: भूखंडों की दर में 7.1 फीसद की बढ़ोत्तरी)

फेज टू

150000-10,890-10,890 14,500-9820-9820 13,000-9420-9420 13000-9030-9030

(नोट: भूखंडां की दर में बढ़ोतरी नहीं)

फेज थ्री

0-4000 वर्ग मीटर 4,001 से 20,000 वर्ग मीटर 20,001 से 60,000 वर्ग मीटर 60,000 वर्ग मीटर से अधिक

(सर्किल-सेक्टर दर)(बाजार-प्रस्तावित दर) (सर्किल-सेक्टर दर)(बाजार-प्रस्तावित दर) (सर्किल-सेक्टर दर)(बाजार-प्रस्तावित दर) (सर्किल-सेक्टर दर)(बाजार-प्रस्तावित दर)

(20000-11290)(55000-13000) (19000-10800)(45000-12450) (17000-10600)(एनए-12200) (17000-10390)(एनए-11950 औद्योगिक क्षेत्र)

(नोट: भूखंडों की दर में 15 फीसद की बढ़ोतरी)

वाट्सएप कॉल करके रंगदारी मांगता था हरियाणा का नामी गैंगस्टर, पढ़िए- और भी कई खुलासे

6 साल पुराने दोस्त को घर पर एंट्री देकर पछताई युवती, कई बार बनी दुष्कर्म की शिकार Gurugram News

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप