मुरादाबाद, जेएनएन। अभी डरे नहीं तो हालात बिगड़ने में ज्यादा समय नहीं लगेगा। होशियार होने में ही समझदारी है। इस साल जनवरी से अब तक 19 लोगोंं की  संक्रमण की चपेट में आने के बाद मौत हो गई। 2020 में जिले में 170 लोगों की मौत हो चुकी है। हालात ये हैं कि कोरोना के नए स्ट्रेन में सीधे फेफड़ों पर असर पड़ रहा है। इस वजह से फेफड़े के खराब हिस्सा तो काम करना ही बंद कर देता है। इसके साथ ही शरीर में ऑक्सीजन की कमी शुरू हो जाती है। इसके साथ ही मरीज गंभीर स्थित में पहुंच रहे हैं। मंगलवार को 142 लोग कोरोना संक्रम‍ित पाए गए। 

चार दिन के आंकड़ों की बात करें तो हर दिन दो लोगों की मौत कोरोना संक्रमण से हो रही है। इन सभी में शरीर की ऑक्सीजन का स्तर कम होने पर शरीर के दूसरे अंगों पर प्रभाव पड़ा। मंगलवार को भी 52 वर्षीय न्यायिक अधिकारी और एक महिला की मौत हुई है। दोनों का ही ऑक्सीजन स्तर कम हो गया था।

सीटी स्कैन से पॉजिटिव, रिपोर्ट से निगेटिव

इस बार कोरोना संक्रमण को लेकर चिकित्सक भी हैरान हैं। वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. अनुराग मेहरोत्रा ने बताया कि व्यक्ति में कोरोना संक्रमण के पूरे लक्षण होने के बाद फेफड़ों पर सफेद धब्बे भी सीटी स्कैन में साफ नजर आ रहे हैं। इस बार फेफड़ों पर असर जल्दी और ज्यादा हो रहा है। आरटीपीसीआर रिपोर्ट निगेटिव और देरी से मिलने की वजह से दिक्कत हो रही है। ऐसे मरीजों का किस श्रेणी में इलाज किया जाए। जब तक रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं होगी तो मरीज को कोविड वार्ड में भर्ती भी नहीं किया जा सकता है। मरीज के परिजन भी कहते हैं कि रिपोर्ट निगेटिव है तो कोरोना वार्ड में क्यों रखा जा रहा है। इस बार युवाओं में भी कोरोना संक्रमण का असर अधिक है। इस वजह से मरीज एक सप्ताह में ही गंभीर हालत में पहुंच रहा है। इसमें सूंघने की क्षमता, जबान पर स्वाद नहीं हो ताे फौरन चिकित्सक से संपर्क करें। जिन लोगों को दोनों को वैक्सीन लग गई हैं। वो भी पॉजिटिव आए हैं। इस श्रेणी के मरीजाें में गंभीरता देखने को नहीं मिल रही है।

142 लोग मंगलवार को संक्रमित, एक हजार के पार संक्रमित

जिले में हर दिन संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है। मंगलवार को संक्रमितों का आंकड़ा हजार को पार कर गया है। सुबह से शाम तक 142 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। अब जिले में में 1009 एक्टिव संक्रमित हो गए हैं। हालात दिन ब दिन खराब होते जा रहे हैं। ऐसे हालात में शारीरिक दूरी के साथ मास्क लगाना बहुत जरूरी है।

5258 ने लगवाया कोरोना से बचाव का टीका

स्वास्थ्य विभाग ने 106 केंद्रों पर 5258 लोगों को कोरोना से मुकाबले के लिए टीका लगाया। सभी केंद्रों में टीके की व्यवस्था है। सरकारी अस्पतालों में 4963 और निजी अस्पतालों में 295 लोगों को टीका लगाया गया।

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में मरीज संक्रमित हो रहे हैं। संक्रमण का असर भी जल्दी देखने को मिल रहा है। शारीरिक दूरी के नियम का कड़ाई से पालन करें। हालात को समझने की जरूरत है। अपने साथ परिवार के लिए भी सुरक्षित रहें।

डॉ. एमसी गर्ग, मुख्य चिकित्सा अधिकारी

यह भी पढ़ें :-

व‍िवाह‍िता पर ब‍िगड़ी जेठ और ससुर की नीय‍त-मह‍िला से कहा-हमारी हसरतें पूरी कर दो या 200 गज का प्‍लॉट द‍िला दो

गरीब की बेटी से प्‍यार, निकाह के बाद माफ हो गया दुष्‍कर्म का गुनाह, बड़ी द‍िलचस्‍प है मुरादाबाद की ये प्रेम कहानी

Edited By: Narendra Kumar