बहजोई, (सम्भल) : गुन्नौर थाना पुलिस ने अंतरराज्यीय वाहन चोर गैंग का पर्दाफाश किया है। उसने गैंग के पांच सदस्यों को दबोचकर 52 चोरी की बाइक बरामद की हैं। इसके अलावा पार्ट्स बदलने के औजार भी मिले हैं। गिरोह का सरगना फरार है, जिसकी तलाश में पुलिस ताबड़तोड़ दबिश दे रही है।

तीन सदस्‍यों की निशानदेही पर मिलीं 49 बाइक

पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने बताया कि 10 सितंबर को गुन्नौर पुलिस मुख्य चौराहे पर वाहनों की चेकिंग कर रही थी कि अचानक तीन बाइक पर सवार तीन युवक आए। तीनों को रोकने के बाद जब पुलिस ने तलाशी तो उनके पास से तमंचा मिला। जांच में तीनों बाइक चोरी की निकलीं। पूछताछ में उन्होंने अपना नाम राजेश पुत्र किशनलाल गांव रामनगर, खुशीराम पुत्र दीवान  सिंह गांव सिकरौरा खादर और सलमान पुत्र शराफत गांव रिवाड़ा थाना गुन्नौर बताया। पुलिस ने उनकी निशानदेही पर नरौरा पुल के निकट स्थित गंगा की कटरी में छापेमारी की। जहां से चोरी की 49 बाइक बरामद हुईं। इनकी रखवाली कर रहे दो अन्य सदस्यों को पकड़ लिया। उन्होंने अपने नाम हरिओम पुत्र चंद्रपाल गांव रामनगर टप्पा वैश्य और सत्यभान पुत्र रामप्रकाश गांव चबूतरा थाना गुन्नौर बताए। यहां से बाइक के पार्टस बदलने के औजार भी बरामद किए गए। इस गैंग का मुख्य सरगना मोहन पुत्र सौदान

 सिंह निवासी गांव खेरिया रुद्र थाना गुन्नौर है, जिसकी पुलिस तलाश कर रही है। 

चोरी कर बाइकों के बदल देते थे पार्टस

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पकड़े गए सभी बदमाश अंतरराज्यीय वाहन चोर गैंग के सदस्य हैं। यह गैंग दिल्ली एनसीआर के हरियाणा, दिल्ली, गाजियाबाद, नोएडा, अलीगढ़, मुरादाबाद, अमरोहा आदि जनपदों में मुख्य बाजार, मॉल, सिनेमा हॉल, अस्पताल, बैंक समेत सार्वजनिक स्थानों पर खड़े होने वाले वाहनों की निगरानी करके उनका लॉक तोड़ते थे और चोरी कर एक स्थान पर छिपा देते थे। जिसके बाद सलमान व हरिओम मिस्त्री बाइक के इंजन का पाट््र्स बदलकर दूसरे वाहनों में लगाने के लिए भेज देते हैं। इस दौरान यह इंजन नंबर और चेसिस नंबर भी बदल देते हैं। 

एसपी ने की पुलिस टीम की सराहना

 पुलिस अधीक्षक ने इतनी बड़ी कामयाबी को अंजाम देने वाली टीम के मुखिया गुन्नौर के प्रभारी निरीक्षक प्रवीण सोलंकी के अलावा उपनिरीक्षक धनवान ङ्क्षसह उप निरीक्षक दीपक राणा, उपनिरीक्षक दीपक कुमार के अलावा कांस्टेबल मोहित गौतम, मनीष कुमार, प्रदीप कुमार, सन्नी और रूप कुमार को बधाई दी। पकड़े गए पांचों अभियुक्तों को जेल भेज दिया गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021