मेरठ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में माफिया के खिलाफ कार्रवाई के कारण बुलडोजर बाबा के नाम से विख्यात हो चुके मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार का दंबगों के खिलाफ एक्शन जारी है। टीपी नगर के जगन्नाथ पुरी स्थित ढाई लाख के इनामी बदन सिंह बद्दो से खरीदे गए पार्क में बनाई गई अवैध दुकानों पर बुलडोजर चला दिया गया है। 

पश्चिमी उत्तर प्रदेश का कुख्यात माफिया बदन सिंह बद्दो अवैध शराब तथा जमीन पर कब्जा करने के मामले में कार्रवाई के बाद से फरार है। विधानसभा चुनाव संपन्न होने के बाद उत्तर प्रदेश सरकार फिर से एक्शन मोड में आ गई है। 15 मार्च को उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने माफिया के अवैध कब्जे के खिलाफ अभियान प्रारंभ कर दिया है। इसी क्रम में मेरठ में कार्रवाई की गई। 

योगी आदित्यनाथ सरकार के शपथ ग्रहण से पहले माफिया और उनके करीबियों के खिलाफ रुका बुलडोजर का पहिया एक बार फिर से चलने लगा है। फरार माफिया बदन सिंह बद्दो की शह पर उसके करीबी ने मेरठ में एक पार्क की जमीन पर कब्जा कर फैक्ट्री बना ली गई थी। मेरठ विकास प्राधिकरण की टीम ने मंगलवार को इस अवैध फैक्ट्री पर बुलडोजर चलवा दिया है। मेरठ विकास प्राधिकरण की इस कार्रवाई के दौरान बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी भी मौजूद थे, ताकि किसी तरह की अव्यवस्था पैदा न हो सके। बदन सिंह बद्दो ने पार्क की जमीन पर कब्जा कर रेणु गुप्ता के नाम बैनामा करा फैक्ट्री खुलवा दी थी। अब कानूनी प्रक्रिया के बाद आज इसको ढहा दिया गया। बदन सिंह बद्दो कई मामलों में वांछित है। कानूनी कार्रवाई से बचने के लिए वह फरार है। अब सरकार उनके करीबियों की कमर तोडऩे में लगी है। 

मेरठ के थाना टीपी नगर क्षेत्र के जगन्नाथ पुरी इलाके में बदन सिंह बद्दो ने पार्क पर अवैध कब्जा कर लिया था। इसके बाद उसने अपनी एक करीबी रेणु गुप्ता की एक फैक्ट्री खुलवा दी। मेरठ विकास प्राधिकरण ने अवैध कब्जा को हटाकर पार्क के लिए आवंटित करोड़ों रुपये की ढाई बीघा की जमीन को कब्जा मुक्त करा लिया है। बदन सिंह बद्दो 2019 में मेरठ से ही फरार हो गया था, जिसके बाद से उत्तर प्रदेश सरकार बद्दो के करीबियों पर शिकंजा कसने में लगी हुई है। पुलिस बद्दो को आर्थिक मदद पहुंचाने वाले करीबियों की कमर तोडऩे में लगी हुई है। इसके क्रम में सबसे पहले बद्दो का आलीशान बंगला ध्वस्त किया गया था। अब बदन सिंह के शह पर कब्जा की गई पार्क की जमीन पर बनी फैक्ट्री को ध्वस्त करके पार्क को कब्जा मुक्त कराया गया है। फरार माफिया कुख्यात बदन सिंह बद्दो की कब्जा कर बेची गई अवैध संपत्ति पर आज मेरठ में योगी आदित्यनाथ का बुलडोजर चल गया। मोस्ट वांटेड बदन सिंह बद्दो ने दूसरों के नाम पर अपना अवैध साम्राज्य खड़ा किया है। पुलिस की अभिरक्षा से फरार बदन सिंह पर ढाई लाख का इनाम घोषित है।

गौरतलब है कि कुख्यात शराब माफिया बदन सिंह बद्दो मेरठ में पुलिस हिरासत से भागा था। फरारी काट रहे बदन सिंह पर ढाई लाख का इनाम घोषित है। उसने सरकारी पार्क की जमीन पर अवैध कब्जा करके उनको बेचा है। जहां पर फैक्ट्री तथा मकान बने हैं। मेरठ विकास प्राधिकरण ने अवैध कब्जे वाली ढाई बीघा जमीन को मंगलवार को मुक्त कराया है। 

दुकानों को बुलडोजर चलाकर ध्वस्त किया : टीपी नगर के जगन्नाथ पुरी में पार्क की जमीन पार्षद राजीव उर्फ काले के साले शिव कुमार की पत्नी रेनू गुप्ता के नाम है। एमडीए की टीम ने मंगलवार को पुलिस को साथ लेकर दुकानों पर बुलडोजर चलाकर ध्वस्त कर दिया गया। शिवकुमार ने यह दुकान पटेल नगर के कबाड़ी नईम को किराए पर दी हुई है। सोतीगंज बंद होने के बाद नईम कबाड़ी ने जगन्नाथपुरी में अपना गोदाम बना रखा था। दुकानें ध्वस्त होने के बाद नईम कबाड़ी अपना सामान उठा रहा है। 

नईम कबाड़ी ने बताया कि दुकानें कुछ महीने पहले ही शिवकुमार से किराए पर ली थी। थाना प्रभारी विवेक शर्मा का कहना है कि हिस्ट्रीशीटर बदन सिंह बद्दो और उसके सहयोगियों ने अवैध कब्जा कर रेनू गुप्ता के नाम बैनामा करा दिया था। जिस पर अवैध तरीके से बिना अनुमति के दुकानें बना दी गई थी।

यह भी पढ़ें: Hastinapur Excavation: हस्‍त‍िनापुर में बाबा हरिदास कुटी के पास मिले प्राचीन सिक्के

यह भी पढ़ें: पंचायत में बोले संगीत सोम, बराबर चलेगा बाबा का बुलडोजर और संगीत का डंडा

यह भी पढ़ें: UP Election 2022: जिन गांवों में आंदोलन ने पकड़ा था जोर, वहां भी भाजपा को खूब मिले मत

Edited By: Dharmendra Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट